1 अक्टूबर से बदल रही ये 5 जरूरी चीजें, जान लेंगे तो होगा फायदा

0
173

1 अक्टूबर से केवल साल का एक महीना ही नहीं बदल रहा बल्कि और भी कई जरूरी चीजें बदलने जा रही हैं। यह चीजें सीधे तौर पर आम आदमी को प्रभावित करेंगी और अगर आपको इसकी जानकारी नहीं है तो फिर जान लें क्योंकि इससे आपको फायदा मिलने वाला है।

बदल जाएगी सामान की एमआरपी: जीएसटी लागू होने के बाद अब 1 अक्टूबर से बाजार में पुरानी एमआरपी वाला समान नहीं बेचा जा सकेगा। सरकार के आदेश अनुसार सभी प्रोडक्ट्स पर नई एमआरपी लिखकर बेचना होगा और इसमें जीएसटी अलग से नहीं लगाया जा सकेगा। अगर कोई पुरानी एमआरपी पर सामान बेचता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

सेविंग अकाउंट बैलेंस में कटौती: 1 अक्टूबर से एसबीआई के ग्राहकों के लिए कुछ बदलाव लागू होने वाले हैं इनमें सेविंग बैंक अकाउंट के बैलेंसे अलावा और भी चीजे हैं। 1 अक्टूबर से बैंक ने सेविंग अकाउंट में मिनिमम बैलेंस की राशि 5000 से घटाकर 3000 रुपए करने का फैसला किया है। इससे लोगों को बड़ी राहत मिलेगी।

नहीं चलेंगे इन 6 बैंकों के चेक: इसके अलावा एसबीआई के ही 6 सहयोगी बैंकों के चेक 30 सितंबर के बाद बेकार हो जाएंगे। इसलिए अगर आप भी इन 6 बैंकों स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर (एसबीबीजे), स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद (एसबीएच), स्टेट बैंक ऑफ मैसूर (एसबीएम), स्टेट बैंक ऑफ पटियाला (एसबीपी), स्टेट बैंक ऑफ त्रावणकोर (एसबीटी) और भारतीय महिला बैंक (बीएमबी) के चेक बेकार हो जाएंगे और ग्रहकों को नई चेक बुक जारी करवानी होगी।

अकाउंट बंद करने पर नहीं देना होगा चार्ज: इसके अलावा एसबीआई के ही ग्रहकों को बैंक ने सेविंग अकाउंट बंद करते समय लगने वाले चार्जेस में भी राहत दी है। इसके तहत अगर आप अपना सेविंग अकाउंट बंद करवाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको 1 अक्टूबर के बाद कोई चार्ज नहीं लगेगा। हालांकि यह सविधा खाता खोलने के 14 दिन और 1 साल बांद बंद करने पर मिलेगी। इसके बाद अगर कोई खाता बंद करता है उसे 500 रुपए चार्ज प्लस जीएसटी देना होगा।

कम हो सकती है कॉल रेट्स: मोबाइल फोन यूजर्स को 1 अक्टूबर से ही कॉल रेट कम होने की सुविधा मिल सकती है। ट्राई ने 1 अक्टूबर से ही इंटरकनेक्शन चार्ज घटाने की घोषणा की है जिसके बाद कॉल रेट्स कम हो सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here