हृदय रोगों से बचने के लिए अपनाये ये तेल, जरूर पढ़े!!

0
43

पहले तो एक बात ध्यान में रखें के जो तेल आप अपनी बॉडी पर अपने सिर पर नहीं लगा सकते, उसको खाने का सोचियेगा भी मत। मगर हमारा दुर्भाग्य है के आज हम जो तेल खा रहे हैं उनको अपने शरीर पर नहीं लगा सकते, फिर भी हम उनको खा रहे हैं। यही कारण है के आज हम अनेक बिमारियों से घिरे हुए हैं। आज हम आपको इसी कड़ी में बता रहे है आपको के कौन से तेल स्वास्थय के लिए और विशेषकर आपके दिल के लिए लाभदायक हैं।

सरसों का तेल: सरसों के तेल को भारतीय रसोई में विशेष रूप से अहम स्थान था। मगर आज कल हम इस से बहुत दूर हो गए। इसकी जगह रिफाइंड और पैक्ड तेलों ने ले ली है। अगर स्वास्थय चाहते है तो पैक्ड तेलों की जगह कच्ची घानी का शुद्ध निकला हुआ सरसों तेल ही इस्तेमाल करें। यह उच्च धूम्रबिंदु वाला तेल है और यह पॉलीअनसेचुरेटेड भी होता है। अगर सरसों के तेल में किसी तरह का मिलावट न हो तो यह आपके दिल के लिए बहुत ही फायदेमंद है।

कैनोला तेल: अगर आप तला और भुना हुआ खाना चाहते हैं और यह भी चाहते हैं कि इससे आपके स्वास्थय पर बुरा असर न पड़े तो कैनोला का तेल प्रयोग कीजिए। इसका उपयोग कई तरीकों से किया जा सकता है। इसे उन तेलों की सूची में शामिल किया जा सकता है जो आपके दिल के लिए अच्छा होता है। इसके सेवन से शरीर में कोलेस्‍ट्रॉल की मात्रा भी नहीं बढ़ती है।

तिल का तेल: तिल का तेल का प्रयोग न केवल भारत में होता है बल्कि इसका प्रयोग लगभग पूरी एशिया में होता है। इसका प्रयोग करने के बाद खाने का स्वाद बदल जाता है, यानी यह बेहतर स्वाद के लिए भी जाना जाता है। इस तेल में एंटीऑक्सीडेंट्स और एंटी-इन्फ्लेमेट्री यौगिक होते हैं जो दिल की बीमारियों से लड़ने में सहायक होते हैं।

राईस ब्रॉन ऑयल: दिल को स्वस्थ रखने वाले तेलों में इसका भी नाम आता है। इसे दिल के लिए सर्वश्रेष्ठ माना जाता है क्योंकि यह पॉलीअनसैचुरेटेड होता है। इसमें ओरिजनॉल नामक तत्‍व होता है जो शरीर से कोलेस्‍ट्रॉल के स्‍तर को कम करता है और दिल को भी स्‍वस्‍थ रखता है। इसलिए अपने खाने को राईस ब्रॉन तेल से बनायें।

ऑलिव ऑयल: ऑलिव यानी जैतून का तेल दिल के लिए बहुत स्वास्थय वर्धक है। खाने के लिए यह बेहतर तेल है और इसके प्रयोग से खाने का स्वाद भी नहीं बिगड़ता है। इस स्वाद युक्त तेल में पॉलीफेनल्स नामक एंटी ऑक्सीडेंट होते हैं जो दिल को स्वस्थ रखते हैं। इसलिए इसे अपने आहार में शामिल कीजिए और इसके प्रयोग से ही खाना बनाइये। यह आपके दिल को स्वस्थ रखेगा।

मूंगफली का तेल: मूंगफली के तेल में दानों का स्वाद होता है। यह ट्रांस फैट फ्री, कोलेस्ट्रॉल फ्री होता है तथा इसमें सैचुरेटेड फैट कम होते हैं। इसके अलावा यह विटामिन ई, एंटीऑक्सीडेंट्स और फायटोस्टेरॉल्स का अच्छा स्रोत है..

नारियल तेल: नारियल तेल स्वस्थ्य के लिए बहुत लाभदायक है। इससे गुड कोलेस्ट्रॉल बढ़ता है और बैड कोलेस्ट्रॉल कम होता है। जिससे हमारा हृदय स्वस्थ रहता है।

महत्त्वपूर्ण सुचना: यहाँ दी गई जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हरसम्भव प्रयास किया गया है। यहाँ उपलब्ध सभी लेख पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए है और इसकीनैतिक जि़म्मेदारी www.braahmi.com  की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपनेचिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। आपका चिकित्सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्प नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here