हृदय को स्वस्थ रखने के घरेलू नुस्खे

0
73

हृदय हमारे शरीर का सबसे व्यस्त अंग है, जो हमारे जन्म के साथ ही कार्य करना शुरू करता है तो मृत्यु के साथ ही बंद होता है। यदि आप हृदय के स्वास्थ्य को गंभीरता से लेते हैं तो एक बात सदैव ध्यान में रखें कि तेल व चिकनाई युक्त पदार्थों का ज्यादा सेवन तथा धूम्रपान हृदय के परम शत्रु हैं। अत: इनसे दूर रहें। इसके अलावा अधिक मात्रा में मांस, शराब व गरिष्ठ भोजन का सेवन भी हृदय को नुकसान पहुंचाता है। साथ ही मल, मूत्र, छींक व हिचकी के वेग को रोकना भी हृदय के लिए हानिकारक है।

हृदय को स्वस्थ रखने के उपचार

1. सेवः  हृदय के उत्तम स्वास्थ्य के लिए सेव का मुरब्बा उत्तम औषधि है। नियमित सेव का मुरब्बा खाने से हृदय तरोताजा व स्वस्थ रहता है।

2. आंवलाः भोजन करते समय बीच में अर्थात आधा भोजन करने के पश्चात 35 ग्राम मात्रा में हरे आंवलों का रस पीजिए। तत्पश्चात पुन: भोजन करने लग जाइए। इस प्रकार भोजन के साथ हरे आवलों का रस एक माह तक पीएं, इससे हृदय की दुर्बलता समाप्त हो जाएगी।

3. अमरूदः प्रतिदिन 100 ग्राम अमरूद खाने से हृदय स्वस्थ रहता है।

4. लीचीः लीची का सेवन हृदय को स्वस्थ रखता है तथा उसे शक्ति देता है।

5. अदरकः अदरक का सेवन हृदय के लिए उत्तम रहता है।

6. नीबूः नीबू में हृदय की कमजोरी दूर करने के विशेष गुण विद्यमान हैं। इसके नियमित प्रयोग से हृदय की मांसपेशियां व रक्तवाहिनियां लचकदार व कोमल रहती हैं। नीबू की शिकजी व प्रात: एक नीबू का रस गर्म पानी के साथ पीने से हृदय को लाभ होता है।

7. संतराः संतरे के एक गिलास रस का नियमित सेवन हृदय को सभी रोगों से बचाता रहता है।

8. मौसमीः नीबू की भांति मौसमी भी रक्तवाहिनियों को लचकदार बनाती है। रक्तवाहिनियों में इकट्ठा हुआ कोलेस्ट्रॉल व विषैले पदार्थ शरीर के बाहर निकाल देती है।

9. खजूरः हृदय के लिए खजूर भी महत्त्वपूर्ण औषधि का कार्य करता है। खजूर को पानी में भिगोकर प्रात:काल चबाकर खाने और इसके बाद दूध पीने से हृदय को बल मिलता है।

10. अनारः अनार का रस पीने से हृदय को बल मिलता है तथा बेचैनी दूर होती है।

11. अंगूरः हृदय के लिए अंगूर बहुत लाभदायक फल है। हृदय के स्वास्थ्य के लिए इसका नियमित सेवन करना चाहिए।

12. बेलः पके हुए सुगंधित बेल का गूदा मलाई के साथ नित्य खाते रहने से हृदय को ताकत मिलती है। इसी प्रकार बेलपत्र का 10 ग्राम रस निकालकर गाय के घी में मिलाकर पीने से हृदय स्वस्थ बना रहता है।

महत्त्वपूर्ण सुचना: यहाँ दी गई जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हरसम्भव प्रयास किया गया है। यहाँ उपलब्ध सभी लेख पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए है और इसकीनैतिक जि़म्मेदारी www.braahmi.com  की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपनेचिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। आपका चिकित्सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्प नहीं है।