हलासन करने की विधि

0
177

हर कोई एक सुडौल शरीर चाहता है| क्योकि आजकल के ज़माने में अच्छा दिखना हर फ़ील्ड की डिमांड बन चुकी है| अब ना केवल मीडिया में बल्कि अन्य जॉब्स में भी पर्सनालिटी को तवज्जो देने लगे है|

एक अच्छी पर्सनालिटी ना केवल आपके व्यक्तित्व को निखारती है बल्कि यह आपके शरीर को भी स्वस्थ रखने का एक अच्छा तरीका है| क्योकि यदि आपके शरीर पर मांस जमा हुआ है तो इससे आप मोटापे का शिकार हो जाते है|

और मोटापा एक इकलोती बिमारी नहीं है यह कई बिमारी को आमंत्रित करती है| एक स्वस्थ जिंदगी के लिए शरीर पर अनाव्यशक चर्बी नहीं होना चाहिए| शरीर से चर्बी को हटाने के लिए और उसे छरहरा बनाने के कई तरीके मौजूद है| जिसमे से एक प्रभावी तरीका योग का अभ्यास है|

जो लोग हलासन योग का अभ्यास करते है वे मोटे नहीं होते और उनका शरीर सुडौल रहता है| इसे पलो पोस के नाम से भी जाना जाता है| आइये विस्तार से जानते है

हलासन करने की विधि:

  • हलासन Yoga का अभ्यास करने के लिए साफ सुथरी जगह का चुनाव करे और वहा चटाई बिछा ले|
  • इसके पश्चात जमीन पर पीठ के बल लेट जाइए| आपके दोनों हाथ कमर के सामानांतर हो, हथेलियां जमीन पर और दोनों पैर एक दुसरे से मिले होना चाहिए|
  • अपने चेहरे को आसमान की तरफ रखे और अपनी आखें मूंद ले|
  • इसके बाद आपको अपने पैरो को ऊपर उठाना है| इसके लिए सांस लेते हुए पैर को ऊपर की और उठाये| इस क्रिया को करते वक्त अपने पेट को अन्दर की और सिकोड़ें|
  • दोनों पैरों को सिर के पीछे लगाने कि कोशिश करें जैसा कि चित्र में बना हुआ है।
  • अपने पैरो को उठाते हुए इसे सर के पीछे ले जाये, पैरो के साथ पीठ और कमर को भी मोड़े| ऐसा करने के लिए अपने हाथो का सहारा ले|
  • थोड़ी देर उसी अवस्था में रुके रहे जैसा की चित्र में दिखाया गया है, फिर वापिस से सामान्य स्तिथि में आ जाये|

जानिए इसके लाभ

  • इस आसन को करने से रीढ़ की हड्डी लचीली होती है। यह पीठ दर्द से निजात दिलाता है|
  • इसका अभ्यास गले सम्बन्धी रोगों को दूर करने में भी फायदेमंद है।
  • यह आसन को करते समय आपके हृदय को खून की पूर्ति होती है।
  • यह पेट की चर्बी को कम करने के लिए प्रभावी आसन है| इसका अभ्यास करके आप पतली कमर जरूर पा सकती है|
  • यदि आप सुन्दर और कांतिमय चेहरा चाहते है तो आपको हलासन का नियमित अभ्यास जरूर करना चाहिए|
  • इसे करने से आपकी मानसिक क्षमता में वृद्धि होती है इसलिए मस्तिष्क सम्बन्धी कार्य करने वाले लोगो को इसे जरूर करना चाहिए|
  • हलासन उन स्त्रियों के लिए तो बहुत ही लाभदायक है जिनका गर्भाशय स्थिर नहीं रहता है|
  • इसका नियमित अभ्यास करने से शरीर के भीतरी अंगों की मालिश होती है| मोटापे को दूर करने में यह सहायक है|

हलासन में सावधानिया

  • मासिक धर्म के दिनों में इस आसन का अभ्यास नहीं करना चाहिए|
  • यदि आपको रक्तचाप सम्बन्धी समस्या है तो इस आसन का अभ्यास नहीं करना चाहिए|
  • जब भी आप इस आसन को करे तो अपने पैरो को ऊपर या निचे ले जाने का कार्य आराम से करे| इसमें आपके पैरो को झटका नहीं लगना चाहिए|
  • हो सकता है शुरुवात में इस आसन को करते वक्त आपको कठिनाई महसूस हो, तो जबरदस्ती इसे करने की कोशिश ना करे|
  • यदि आपको शरीर में किसी भी तरह का दर्द जैसे की कमर दर्द, गर्दन दर्द या फिर पीठ में तकलीफ हो तो चिकित्सक की सलाह लिए बिना इस आसन को ना करे|