स्वास्थ्य के लिए जरूरी है पूरी नींद लेना

0
18

नई दिल्ली । आज की भागदौड़ वाली जिंदगी में कार्य का तनाव कार्यालय से बाहर घर में भी बना रहता है। जिसकी वजह से कई पेशेवर काम को निबटाने का देर रात तक प्रयास करते हैं। जिसकी वजह से वे भरपूर नींद नहीं ले पाते हैं। सही से नींद न आने के कारण आगे चलकर यह अनिद्रा नामक गंभीर बीमारी का रूप धारण कर लेता है। अनिद्रा की समस्या होने पर शरीर को और भी कई तरह के नुकसान होने लगते हैं जैसे कि रोगप्रतिरोधी क्षमता कमजोर होना, मोटापा बढ़ जाना इत्यादि। इसके अलावा रोजाना ठीक से ना सो पाने के कारण आपके दिमाग पर भी बुरा असर पड़ता है। अगर आप नींद न आने से परेशान हैं तो इसका सबसे प्रमुख असर आपके व्यवहार में दिखने लगता है।

थोड़ी थोड़ी देर में मूड बदलना किसी पर गुस्सा करना ये सब आम लक्षण है। यदि आपको ऐसे लक्षण दिखने लगे तो चिकित्सक से परामर्श लेना चाहिए। अनिद्रा (स्लीप डिसऑर्डर) होने से आपकी फोकस और कंसन्ट्रेट करने की क्षमता बुरी तरह प्रभावित होने लगती है। इसका सीधा असर आपकी निजी और पेशेवर जिंदगी पर पड़ने लगता है। जब आप रात में भरपूर 8 घंटे की नींद पूरी करते हैं तो अगले पूरे दिन आप एकदम अलर्ट और ऊर्जा से भरपूर रहते हैं। लेकिन जब आप ठीक से सो नहीं पाते हैं तो ना आप घर के काम ठीक से कर पाते हैं ना ही ऑफिस के।

कम सोने की वजह से आपके सोचने समझने की क्षमता पर भी बुरा असर पड़ता है। सबसे पहले आपकी फोकस करने की क्षमता और किसी समस्या को हल करने के लिए ज़रूरी तार्किक क्षमता कमजोर होने लगती है और उसके बाद धीरे धीरे आपको चीजें टाइम पर याद नहीं आती है। जिससे आगे चलकर आपकी याद्दाश्त कमजोर होने लगती है। जिससे आप कोई भी नयी चीज को सीखने में खुद को असमर्थ पाते हैं। जब आप कई दिनों तक ऐसे ही ठीक से सो नहीं पाते हैं तो धीरे धीरे आप मानसिक रोग की चपेट में आने लगते हैं। यदि आपने समय रहते इसका इलाज नहीं करवाया तो आपको भ्रम, पैरोनिया जैसे गंभीर मानसिक रोग के शिकार हो सकते हैं। इसलिए बेहतर यही होगा कि यदि आपको नींद नहीं आ रही है तो चिकित्सक से जांच कराएं और घर पर योगाभ्यास करें।