सुबह में जल्दी उठना मुश्किल हो रहा है तो, यह रहा आसान समाधान जान गये तो आज से जल्दी उठोगे

0
398

कई लोगों को सुबह उठने में परेशानी होती है। चाहे कितना भी जल्द सो जाएँ लेकिन सुबह उठा नहीं जाता है। हम सब जानते हैं की सुबह में जल्द उठने के कई सारे शारीरिक लाभ होते हैं। और दिन भर जगे रहनें से हम ढेर सारे काम भी कर सकते हैं। पर किसी तरह सुबह उठा नहीं जाता है। जिस से पूरा दिन बेकार चला जाता है। अगर आप भी इस जटिल समस्या से परेशान हैं तो हम आप के लिए इस प्रोब्लेम का उपाय लाये हैं। जिस से आप बड़ी आसानी से सुबह में उठ सकेंगे। और पूरे दिन भर चुस्त फुर्तीले रह कर अपने कामकाज निपटा सकेंगे। तो आइये शुरू करते हैं।

सुबह देरी से उठने के 7 नुकसान

  • पाचन तंत्र खराब होता है।
  • वज़न बढ़ता है।
  • इन्सान का स्वभाव चिढ़चिढ़ा बनता है।
  • देर तक सोने पर दिन छोटा लगता है। काम पूरे नहीं होते।
  • शरीर बेडौल और मोटे होने लगता है।
  • शरीर बीमारियों का घर बनता है।
  • शरीर भद्दा और चेहरा निस्तेज बन जाता है।
  • सुबह जल्द उठने के 7 उपाय

1 यह जल्दी उठने के समय के लिए अभ्यस्त होने को संदर्भित (referencing)करता है। उदाहरण के लिए, यदि आप आम तौर पर सुबह 7 बजे जागते हैं तो, सुबह 5 बजे उठने का लक्ष्य ना बनाएं। धीरे धीरे शुरूवात करें। आप सबसे पहले 6:15 बजे, फिर 5:30 बजे उठने पर अपना लक्ष्य शुरू कर सकते हैं।

2 अक्सर, हम जो चाहते हैं उसको प्राप्त करने में असमर्थ होते हैं और इस विफलता का कारण, हमारे अंदर विश्वास की कमी का होना है। हमें समझना चाहिए कि कुछ भी असंभव नहीं है और सुबह जल्दी उठना कोई मुश्किल काम नही है।  शुरू में थोड़ा मुश्किल लग सकता है, लेकिन एक बार आदत बन गई, तो कुछ भी असंभव नही होगा।

3 अपने अलार्म को बिस्तर के पास ना रखना, सुबह उठने का सबसे अच्छा तरीका है। अगर हम अलार्म को बिस्तर के पास रखते हैं तो ऐसे में हम अलार्म बटन को बंद करके, फिर से वापिस सो जाते हैं। इसलिए अपने अलार्म को अपने बिस्तर से दूर रखें, क्योंकि जब सुबह अलार्म बजेगा तो आप बिस्‍तर से उठकर उसे बंद करना पड़ेगा और जिससे आपकी नींद खुल जाएगी।

4 वैसे सोने से पहले और नींद के दौरान बहुत ज़्यादा पानी पीने की सलाह नहीं दी जाती है, लेकिन पानी का एक गिलास पीने से कोई नुक़सान भी नही होगा। बल्कि यह आपके मूत्राशय के कार्यों में मदद करेगा और आपको मूत्र त्याग(पेशाब करने) के लिए जल्दी उठने में भी मदद करेगा। किंतु अगर आप मधुमेह रोगी है या बार बार पेशाब जाने वाली समस्या से ग्रस्त है तो इस उपाय को ना करें।

5 रात के समय भारी खाना खानें से बचें। मिठाई और ज़्यादा तेल वाला भोजन करने से आप भारी और आलसी महसूस करेंगे। एक हल्का भोजन आपके पेट को ठीक रखता है और आपको सुबह जल्दी उठाने में भी मदद करता है।

6 मोबाइल फोन, टैब या लैपटॉप और टीवी आदि उपकरण आपके सुबह जल्दी उठने में बाधा होते हैं। ये आपके सोने के समय में देरी का कारण बनते हैं जिससे आप सुबह देर तक सोते रहते हैं, तो संभवत आप सुबह जल्दी नहीं उठ पाते हैं। इसलिए सोने से पहले इन उपकरणों का उपयोग कम से कम करें और जल्दी सोने की कोशिश करें।

7 जागने के बाद भी बिस्तर पर रहना, आपको फिर से सोने के लिए मज़बूर कर सकता है। इसलिए बिस्तर पर रहने के लिए बहाने बनाने से बचें और जल्द से जल्द बिस्तर से दूर होने की कोशिश करें। ठंडे पानी से स्नान आपकी चेतनता को जगाने, आपको अधिक सतर्क बनाने और आपकी एकाग्रता बढ़ाने में मदद करेगा।

सुबह जल्द उठने के 7 फ़ायदे

1 जब भी आप सुबह उठने के लिए आलार्म लगाएँ तो अलार्म बिस्तर से इतना दूर रखें की आप को उठ कर उसे बंद करने जाना पड़े। नींद भगाने के लिए यह तरीका काफ़ी कारगर है।

2 कई बार ऐसा होता है की हम सुबह में उठ जाते हैं पर, बिस्तर से नहीं उठ पाते हैं। ऐसा होने का कारण ऋतु में ठंडक, या शरीर की सुस्ती होती है। इस समस्या को दूर करने के लिए शरीर के किसी अंग को हिलाते रहना चाहिए। जैसे की, आँख फड़फड़ाना, हाथ पैर को हिलना या फिर तीन चार बार बे वजह करवट बदलना।

3 जब रात में सोने जाएँ तब अगले दिन किसी बात को ले कर उत्साहित रहें। जैसे की कल उस लड़की के दर्शन करने हैं। या फिर कल यह खाना खाना है। या फिर कल इतने पैसे कमाने है। इस तरह का Excitement आप को सुबह में उठने में बहुत मददगार होगा। इस प्रयोग से नींद भी अच्छी आती है।

4 जब हम आहार अच्छा नहीं लेते हैं तब हमारा शरीर शक्ति एकत्रित करने के लिए अधिक निंद्रा का सहारा लेता है। इस लिए विटामिन और प्रोटीन से भरपूर खाना लेना चाहिए। ताकि शरीर की ऊर्जा बनी रहे। और जल्द उठने में तकलीफ़ ना हों।

5कई बार तेज़ पंखे और एसी में सोने पर भी शरीर भारी महसूस करता है, जिस से जल्द उठा नहीं जा सकता है। इस लिए हो सके तो कुदरती हवा में सोना चाहिए।

6रात में सोते समय निश्च्य करें की सुबह में किस समय उठना है। अपने मशतिष्क को संकेत दें। यह प्रयोग आप को उसी समय उठने की प्रेरणा देगा जब आप उठने की सोचते हैं। इस बात पर शायद आप को भरोसा ना होगा पर यह किसी जादू जैसा ही है।

7हताशा से दूर रहें। शुरुआत में उठ ना पाएँ तो दिल छोटा ना करें। लगे रहें। यह आदत धीरे धीरे पड़ती है।

महत्त्वपूर्ण सुचना: यहाँ दी गई जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हरसम्भव प्रयास किया गया है। यहाँ उपलब्ध सभी लेख पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए है और इसकीनैतिक जि़म्मेदारी www.braahmi.com  की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपनेचिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। आपका चिकित्सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्प नहीं है।