सीखने की क्षमता से प्रभावित होता है यौवन

0
10

लंदन । शोधकर्ताओं की माने तो युवावस्था के दौरान प्यूबर्टी (यौवन से संबंधित) हॉर्मोन आपकी सीखने की क्षमता को बाधित करते हैं। इस प्रकार हॉर्मोन का बदलाव मस्तिष्क के एक खास हिस्से को प्रभावित करता है। बार्पले स्थित यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया में सहायक प्राध्यापक व अध्ययन की मुख्य लेखक लिंडा विलब्रेख्त के मुताबिक यौवन से संबंधित हॉर्मोन मस्तिष्क के प्रंटल कॉर्टेक्स के लिए एक स्विच (बटन) की तरह काम करता है, जो सीखने की क्षमता में रूकावट पैदा करता है। विलब्रेख्त ने कहा कि आधुनिक शहरी परिवेश में लड़कियां तनाव व मोटापे की समस्या के कारण समय से पहले जवान हो रही हैं, जो स्कूलों में उनके खराब प्रदर्शन तथा मानसिक स्वास्थ्य से जुड़ा है। चुहिया में जब प्यूबर्टी से संबंधित हॉर्मोन इंजेक्ट किया गया, तो शोधकर्ताओं ने उनके प्रंटल कॉर्टेक्स के तंत्रिका संचार में महत्वपूर्ण बदलाव देखा। ये बदलाव सामने के मस्तिष्क में हुए, जो सीखने, ध्यान देने तथा स्वभाव के नियंत्रण से जुड़ा है।अध्ययन का नेतृत्व करने वाले लेखक डेविड पाइकस्र्की ने कहा, ठहमारी जानकारी में यह पहला अध्ययन है, जो यह दर्शाने में कामयाब हुआ है कि यौवन से संबंधित हॉर्मोन कॉर्टेक्स के तंत्रिका संचार में बदलाव लाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here