सीएम योगी ने की डेडलाइन पूरी, अब भी नहीं भरे सड़कों के गढ्ढे

0
12
Dummy Image

नोएडा । उत्तर प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने के बाद सभी सड़कें गड्ढा मुक्त करने की घोषणा की गई थी। १५ जून तक का समय तय किया था। लेकिन नोएडा में शहर से लेकर देहात क्षेत्र में सड़कें बेहद खराब हालत में हैं। डीएससी रोड भी दुरुस्त नहीं की गई, जबकि यह नोएडा, ग्रेटर नोएडा और दादरी को जोड़ने का प्रमुख मार्ग है। नोएडा के औद्योगिक व आवासीय सेक्टर के अलावा देहात क्षेत्र के जारचा रोड, आमका-रूपवास रोड, पल्ला, बोड़ाकी मार्ग आदि सड़कें जर्जर हालत में पाई गईं। यह हालत तब है जब यहां की ज्यादातर सड़कों का मरम्मत कार्य नोएडा, ग्रेटर नोएडा व यमुना प्राधिकरण को ही करना है। नोएडा के प्रमुख मार्गाें पर कहीं मेट्रो का काम चल रहा है तो कहीं अंडरपास व एलिवेटेड रोड। जिसके कारण सड़कों से निकलना मुश्किल है। लेकिन यहां के सेक्टर-५८ औद्योगिक क्षेत्र, सेक्टर-१२ आवासीय सेक्टर, सेक्टर-८ झुग्गी झोपड़ी क्षेत्र व सबसे ज्यादा सेक्टर-८ के औद्योगिक सेक्टरों की सड़कों की हालत खराब दिखी। प्राधिकरण ने प्रमुख मार्ग की सड़कों से गड्ढे भरने का काम तो किया लेकिन अंदर की सड़कों की तरफ ध्यान नहीं दिया। जिसके कारण लोग परेशान रहते हैं और हादसे होने का भी डर सताता रहता है। लोगों को बरसात होने का भी डर है क्योंकि गड्ढों में पानी भर जाएगा। ऐसे में जब गड्ढे नहीं दिखेंगे तो निश्चित ही बड़े हादसे भी हो सकते हैं।