सफर में साथ हों बच्चे तो करें ये तैयारी

0
50

अगर आप बच्चों के साथ सफर कर रहे हैं तो विशेष ध्यान रखें। बच्चों के साथ यात्रा करना आसान नहीं है। बच्चों के साथ यात्रा करना अपने आप में एक बड़ी चुनौती है। बच्चों के साथ यात्रा करने के दौरान कई तरह की दिक्कतों का सामना आपको करना पड़ता है, इससे यात्रा का सारा मजा किरकिरा हो जाता है। यदि आप भी अपने ट्रैवल को मजेदार बनाना चाहते हैं तो इन बातों का खास ध्यान रखें।

मौसम का ख्याल
जहां भी आप जा रहे हैं वहां के मौसम की जानकारी पहले से रखें और उसी के मुताबिक, कपड़े और जरूरी सामान पैक करें लेकिन मौसम के खराब होने या एकदम से बदलने के लिए भी तैयार रहें। जैसे अचानक बारिश होने या ठंडा मौसम होने के लिए तैयार रहें और उसी हिसाब से तैयारी करें।

जगह का चुनाव भी अहम
बच्चों के साथ घूमने पर जा रहे हैं तो ऐसी जगह का चुनाव करें कि बच्चे बोर न हों और वे खुलकर एंजॉय कर सकें। जगह ऐसी हो जहां बच्चों के एडवेंचर करने के लिए कुछ चीजें मौजूद हों। चाहे तो आप जगह के सलैक्शन में बच्चों को भी शामिल कर सकते हैं। एडवांस बुकिंग करवाकर रखें। जिस भी जगह जाने का आपने प्लान किया है वहां रूकने के लिए पहले से बुकिंग करवा लें क्योंकि बच्चे आपकी तरह समझदार नहीं होते। वे परेशान होकर शोर मचाना शुरु कर सकते हैं। इससे आपको ही परेशानी होगी। सामान की लिस्ट बनाएं। आपको क्या सामान लेकर जाना है, बच्चों की जरूरी चीजें क्या हो सकती हैं। इन सबकी लिस्ट पहले से ही तैयार करना शुरू कर दें। फिर जब सामान पैक करें तो उन्हें रखने के साथ-साथ टिक करते जाएं ताकि कोई जरूरी सामान रह न जाए।

स्नैक्स साथ में रखें
ट्रैवल पर बच्चों को कुछ ना कुछ खाने के लिए चाहिए ही होता है। ऐसे में होममेड फूड, कुकीज और स्नैक्स जैसी चीजें खासतौर पर पैक कर लें। कुछ अपने बच्चों की मनपसंद चीजें भी साथ रखें। खिलौने रखना ना भूलें बच्चा छोटा हो या बड़ा उन्हें हर समय खेलने के लिए कुछ चाहिए। बच्चों की एक्टिविटी के लिए कुछ चीजें और खिलौने भी पैकिंग के दौरान रखें। उनके फेवरेट खिलौने रखना ना भूलें। यात्रा के दौरान और मौसम में उतार-चढ़ाव से बीमार होना आम बात है। बच्चे वैसे भी कमजोर होते हैं तो बच्चों की जरूरी दवाईयां साथ रखें। बच्चे को अगर कोई एलर्जी है तो उसकी खास तैयारी करके चलें। यात्रा से पहले बच्चों का रूटीन चैकअप करवाएं ताकि ट्रैवल का मजा किरकिरा ना हो और बच्चे बीमार ना पड़ें। साथ ही अपना भी रुटीन चैकअप करवा लें। क्योंकि अगर आप बीमार हो गये तो फिर उन्हें कौन संभालेगा।

अतिरिक्त रकम भी रखें
बच्चे साथ हैं तो पैसों की जरूरत कहीं भी कभी भी पड़ सकती है।
ऐसे में अपनी योजना से कुछ अधिक कैश साथ रखें ताकि मुसीबत के समय काम आ सकें। सिर्फ एटीएम और क्रेडिट कार्ड के भरोसे न रहें। इंश्योरेंस करवाएं। ट्रैवल के दौरान अगर कोई बीमार पड़ जाए तो उसका बहुत अधिक बजट ना आए इसके लिए शॉर्ट टर्म इंश्योरेंस भी करवा सकते हैं। इससे अगर कोई ट्रैवल के दौरान ज्यादा बीमार हो जाता है तो ये आपकी जेब पर भारी नहीं पड़ेगा। प्लास्टिक बैग्स। बच्चों के साथ बहुत सी चीजें ऐसी होती हैं जिनका साथ रखना जरूरी होता है। खासतौर पर प्लास्टिक बैग्स। बच्चों को छोटी-छोटी चीजों को रखने के लिए प्लास्टिक या पेपर बैग साथ होना जरूरी है। कॉन्टेक्ट नंब ट्रैवल पर जाते समय बच्चों के बैग या पॉकेट में घर-परिवार के जरूरी कॉन्टेक्ट नंबर्स ध्यान से रख दें और इसके बारे में उन्हें बताकर रखें। इससे किसी भी परेशानी में बच्चा इन नंबर्स का इस्तेमाल कर सकेगा। यदि ट्रैवल पर आप इन बातों का ध्यान रखेंगे तो ना सिर्फ बच्चे बल्कि आप भी अपने ट्रिप का भरपूर मजा ले पाएंगे।