शिवसेना ने ट्रंप के आतंकवाद के खिलाफ आश्वासन पर उठाए सवाल कहा ओबामा और क्लिंटन ने भी दिलाया था भरोसा

0
4

मुंबई (ईएमएस)। भाजपा की सहयोगी पार्टी शिवसेना ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के वैश्विक स्तर पर आतंकवाद के खिलाफ की जा रही पहल की सराहना की है। साथ ही पार्टी ने बुधवार को कहा कि विश्वभर में आतंकवाद पर भारत के रूख को प्रधानमंत्री ने भले दृढ़ता से सामने रखा हो लेकिन घरेलू स्तर पर, खासकर कश्मीर में हालात चिंताजनक हैं। यह टिप्पणी सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर अमेरिका में नरेंद्र मोदी के वक्तव्य की पृ…भूमि में की गई है। पार्टी ने कहा कि हालांकि प्रधानमंत्री विश्वभर में भारत की छवि को बदलने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन आंतरिक सुरक्षा की स्थिति चिंता का विषय है। शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के संपादकीय में लिखा है कि ‘सर्जिकल स्ट्राइक पर प्रधानमंत्री मोदी का वक्तव्य निश्चित तौर पर वजनदार था। लेकिन इसके बावजूद भी पाकिस्तान की ओर से आतंकी गतिविधियां लगातार जारी हैं और हमारे जवान लगातार शहीद हो रहे हैं।’

इसमें दावा किया गया कि ईद के मौके पर कश्मीर में पाकिस्तानी झंडे लहराए गए और पाकिस्तान के समर्थन में नारे लगाए गए। इसमें कहा गया, ‘अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत को भरोसा दिलाया है कि आतंकवाद से निबटने में वह भारत के साथ खड़ा है। पूर्ववर्ती राष्ट्रपतियों बराक ओबामा और बिल क्लिंटन ने भी यही बात कही थी। लेकिन उन्होंने वास्तव में कितनी मदद दी है यह जांच का विषय है।’लेख में आगे कहा गया है कि ‘यही नहीं, ट्रंप की नीतियों की वजह से अमेरिका में लाखों भारतीय नौकरी से हाथ धोने की कगार पर हैं। उम्मीद है कि मोदी-ट्रंप की मुलाकात में इसका कोई समाधान निकलेगा। शिवसेना ने अपनी संपादकीय में कहा कि अब तक चीन के सैनिक अरुणाचल प्रदेश और लेह में घुस आते थे। अब पता चला है कि वे सिक्किम में भी घुस आए और उन्होंने भारत के दो बंकरों को नष्ट कर दिया। यह चौंकाने वाली घटना है। शिवसेना ने उम्मींद जताई है कि मोदी-ट्रंप की मुलाकात पाकिस्तान और चीन से संबंधित मुद्दों का हमेशा के लिए समाधान निकाल देगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here