वजन घटाने से जुड़ी ये 8 बातें है मिथ, न करें विश्वास

0
136

बढ़ता मोटापा न सिर्फ आपकी लुक खराब करता है बल्कि इससे कई तरह की बीमारियों का खतरा भी हो सकता है। ज्यादातर लोग मोटापा कम करने के लिए दवाइयों, घरेलू नुस्खें, जिम और संतुलित आहार जैसे शार्टकट अपनाते है। मोटापा करने के लिए यह शार्टकट सेहत के लिए खतरनाक हो सकते है। लोग इन तरीकों से वजन कम करने को सही मानते है लेकिन यह सिर्फ आपका भ्रम हैं। इन तरीकों से मोटापा घटाने के कारण कई हेल्थ प्रॉब्लम हो सकती है। आज हम आपको ऐसी ही कुछ बातों के बारे में बताने जा रहें है, जिसे आप मोटापा करने के लिए सही मानते है, पर असल में यह गलत है। आइए जानते है मोटापा घटाने के लिए सही समझें जाने वाले गलत तरीकों के बारे में।

1. नींबू पानी और शहद मोटापा कम करने के लिए लोग सबसे पहले नींबू और शहद का सेवन ही करते है लेकिन यह वजन घटाने में मदद नहीं करता। 1 चम्मच शहद में करीब 200 कैलोरी पाई जाती है, जोकि वजन घटाने में खलल डालती है।

2. एप्पल साइडर सिरका वजन घटाने के लिए लोग सुबह खाली पेट इसका सेवन करते है लेकिन खाली पेट इसका सेवन अल्सर का खतरा पैदा करता है। इसके अलावा यह गले में जलन और नर्वस सिस्टम को हानि पहुंचाता हैं।

3. फल फ्रूट डाइट का सेवन करके लोग वजन को जल्दी घटाने की कोशिश करते है। फल खाना सेहत के लिए अच्छा होता है लेकिन वजन घटाने के लिए अत्यधिक, पपीता, खरबूजे और तरबूज का सेवन हृदय के लिए हानिकारक होता है। इसमें अधिक मात्रा में ग्लाइसिमिक इंडेक्स पाया जाता है, जो वजन घटाता नहीं बल्कि बढ़ाता है।

4. शुगर फ्री खाद्य पदार्थ यह भी एक भ्रम है कि शुगर फ्री चीजों का सेवन वजन घटाने में मदद करता है। बेशर इसमें चीनी का मात्रा कम होती है लेकिन इसमें इस्तेमाल होने वाले रसायन कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों का खतरा पैदा करते हैं।

5. सुबह सैर करना लोगों का मानना है कि सुबह सैर करने से वजन कम होता लेकिन यह व्यायाम की अवधि पर ही निर्भर होता है। सुबह-शाम सैर करने से केवल 3500 कैलरी ही बर्न होती है। मोटापा कम करने के लिए व्यायाम की अवधि बढ़ाएं।

6. भूखे रहना लोग भूखे रह कर जल्दी से जल्दी वजन कम करने की कोशिश करते है लेकिन भूखे रहने से बीएमआर घटता है, जिससे कैलोरी कम बर्न होती है।

7. सप्लीमेंट्स कुछ लोग मोटापा कम करने के लिए प्रोटीन शेक्स और वजन घटाने वाले पाउडर का सेवन करते हैं। इसका सेवन इलेक्ट्रोलाइट को नुकसान पहुंचाता है, जिससे कई गंभीर बीमारियों और किडनी फेल का खतरा बढ़ जाता हैं।

8. ज्यादा जिम जाना जिम और ऐरोबिक्स से पहले कारबोहाईड्रेट्स बर्न होता उसके बाद ही फैट बर्न होना शुरू होना। जबकि व्यायाम करने से पहले फैट और उसके बाद कारबोहाईड्रेट्स बर्न होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here