रोजाना 30 मिनट का ये काम, 10 बीमारियों का है काल

0
53

दौडऩा सबसे उत्तम व्यायाम है। अमेरिका के शोधकर्ताओं ने व्यायाम और मृत्यु दर के बीच के संबंधों का विश्लेषण किया। अध्ययन में पाया गया कि रोजाना दौडऩे वाले लोग, न दौडऩे वाले लोगों की तुलना में ज्य़ादा जीते हैं। शोधकर्ताओं ने 55 हजार से अधिक वयस्कों का विश्लेषण किया और पाया कि एक दिन में सिर्फ सात मिनट तक दौडऩे से दिल की बीमारी से मौत का खतरा कम हो सकता है। इसके अलावा कई अन्‍य जानलेवा बीमारियों से दूर रह सकते हैं। तो चलिए आज हम आपको एक्‍सपर्ट के माध्‍यम से बताएंगे कि दौड़ने से क्‍या लाभ मिलता है।

क्‍या है एक्‍सपर्ट की राय

डॉ. उपेंद्र कौल, चेयरमेन, हार्ट सेंटर, बतरा हॉस्पिटल के अनुसार, जो लोग रोजाना आधे घंटे से ज्य़ादा दौड़ते हैं या वॉक करते हैं, उनका दिल स्वस्थ रहता है। ऐसे लोगों में दिल से संबंधित बीमारियों के चांस कम हो जाते हैं लेकिन इसे प्रतिशत में आंकना सही नहीं हैं। लाइफस्टाइल और उम्र के हिसाब से नतीजों में अंतर देखा जा सकता है।

दौड़ने के हैं 10 जबरदस्‍त फायदे

  • दौड़ते समय शरीर में एंड्रोफिन जैसे रसायन उत्पन्न होते हैं, जिनसे खुशी का अहसास होता है और हम खुद के बारे में अच्छा महसूस करते हैं। तनाव में कमी आती है।
  • फेफड़े मजबूत होते हैं और धीरे-धीरे निरंतर अभ्यास से श्वसन प्रक्रिया में सुधार होता है।
  • दौड़ने समय धमनियां फैलती व संकुचित होती हैं। इससे धमनियों का व्यायाम होता है, साथ ही रक्तचाप नियंत्रित रहता है।
  • यदि आप नियमित दौड़ते हैं तो आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है और आप छोटे-मोटे रोगों की गिरफ्त में आसानी से नहीं आते।
  • हर रोज एक घंटा दौड़ने पर 705 से 865 कैलोरी बर्न होती है। शरीर से चर्बी भी कम होती है।
  • दौड़ने से शरीर का निचला हिस्सा मजबूत होता है। लिगामेंट्स और स्नायुतंत्र में मजबूती आती है।
  • दबाव के दौरान हमारा शरीर हड्डियों तक कुछ अतिरिक्त खनिजों की आपूर्ति करता है, जिनसे हड्डियां मजबूत होती हैं। दौड़ते समय भी यह प्रक्रिया लागू होती है, जिससे समय के साथ हड्डियों का घनत्व बढ़ता है।
  • लिगामेंट्स और स्नायुतंत्र मजबूत होने का सबसे बड़ा फायदा होता है कि जोड़ मजबूत होते हैं। घुटने, कूल्हे और टखने के चोटिल होने की आशंका भी कम हो जाती है। इंसुलिन बनने की प्रक्रिया में सुधार होता है और शरीर में रक्त शर्करा का स्तर नियंत्रित रहता है।
  • दौड़ने के नियमित अभ्यास से आत्मविश्वास में बढ़ोतरी होती है और आप अपने जीवन पर बेहतर नियंत्रण रख पाते हैं।