योग के बाद खादी डिप्लोमैसी से विरोधियों को पस्त करेंगे मोदी

0
16
Dummy Image

अंतरर्राष्ट्रीय मंच पर खादी को प्रोत्साहित करेंगे मोदी | नई दिल्ली (ईएमएस)। मोदी की राजनीति करना का तरीका शायद वर्तमान के किसी भी नेता से बिल्कुल अलग हैं, मोदी की इस राजनीतिक क्षमता को देश ही नहीं दुनिया के तमाम राजनेता मनाने लग गए है। इसी कूटनीति की ताकत के बल पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सत्ता में आने के बाद से भारत की विदेश नीति दुनिया पर हावी होती दिख रही है।

पाकिस्तान और चीन जैसे देशों को भी भारत की कूटनीति के आगे मुंह की खानी पड़ रही है, मोदी की सबसे सफल योग डिप्लोमेसी के आगे दुनिया भर के देशों को झुकना पड़ रहा है, वह अपनी योग डिप्लोमेसी के जरिए न सिर्फ अंतरर्राष्ट्रीय मंच पर बल्कि घरेलू राजनीति में भी वर्चस्व स्थापित करने में कामयाब हुए, नतीजतन इस बार अंतरर्राष्ट्रीय योग दिवस पर पाकिस्तान, चीन, जापान और अमेरिका समेत 175 देशों में योग कार्यक्रम आयोजित किए गए, अब पीएम मोदी खादी डिप्लोमेसी अपनाने के मूड में हैं।

फिलहाल मोदी की योग डिप्लोमेसी को सबसे सफल विदेश नीति के रूप में देखा जा रहा है,प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी ने योग डिप्लोमेसी के जरिए विश्व समुदाय को साधने के साथ ही यह साबित करने में सफल रहे कि भारत ही विश्व को शांति की ओर ले जा सकता है। मोदी की योग डिप्लोमेसी को उस समय सबसे बड़ी जीत मिली, जब 11 दिसंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र ने 21 जून को अंतरर्राष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मनाने के भारत के प्रस्ताव पर मुहर लगा दी। भारत के इस प्रस्ताव को 193 सदस्य देशों ने मंजूरी दी,इससे भी अहम बात यह रही कि इस प्रस्ताव को 90 दिन के अंदर पूर्ण बहुमत से पारित किया गया, जो संयुक्त राष्ट्र में किसी दिवस प्रस्ताव के लिए सबसे कम समय है।

योग मनाने को लेकर शुरुआत में मोदी सरकार को राष्ट्रीय और अंतरर्राष्ट्रीय स्तर पर विरोध भी झेलना पड़ा, लेकिन समय के साथ यह कमजोर पड़ता गया,योग डिप्लोमैसी से गदगद पीएम मोदी अब खादी डिप्लोमैसी की ओर कदम बढ़ाने के मूड में हैं, उन्होंने खादी को लोकप्रिय बनाने के लिए राष्ट्रीय स्तर पर अभियान भी शुरू कर दिया है,माना जा रहा है कि अंतरर्राष्ट्रीय मंच पर जल्द ही मोदी सरकार खादी को अहिंसा के प्रतीत के रूप में पेश करने वाले है।

बुधवार को उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पीएम मोदी ने बारिश में भी योग किया, इस दौरान उनके साथ तमाम मंत्री और आला अफसर मौजूद रहे,कार्यक्रम को संबोधित करने के दौरान मोदी के चेहरे पर योग दिवस की सफलता की चमक साफ दिख रही थी।