ये फल डाइबिटीज क्या कैंसर और ह्रदय रोगियों के लिए भी चमत्कारी वरदान है, हज़ारो रोगों का करता है जड़ से सफाया, जानकारी को आगे भी बढ़ने दे

0
182

कमरख हम आज आपको एक ऐसे फल के बारे में बता रहे है जो मधुमेह, कैंसर और हृदय रोगियों के लिए वरदान है यह नही यह हज़ारो रोगों में भी फायदेमंद है उस फल का नाम कमरख है। कमरख एक देशी फल हैं। इसका स्वाद खाने में बहुत ही खट्टा होता हैं। इसीलिए इसे खाना ज्यादा लोग पसंद करते हैं। कमरख के पेड़ बहुत ही बड़े और घने होते हैं। कमरख का पेड़ कभी भी सूखता नहीं हैं। यह सदैव हरा – भरा रहता हैं और इस पर हमेशा कमरख के फल लदे होते हैं।

कमरख फल को जिन नामो से जाना जाता है उनके नाम निम्नलिखित है :

  • पर्णमाचाल
  • दंत्सठ
  • शिराल
  • कमरक
  • पितफल
  • तारा फल

 कमरख फल का प्रयोग जैसा की हम सभी जानते हैं कि कमरख का स्वाद बहुत ही खट्टा होता हैं इसीलिए इसका इस्तेमाल अधिकतर चटनी, अचार, मुरब्बा और सलाद के रूप में किया जाता हैं। कमरख जब कच्चा होता हैं तो इसका स्वाद खट्टा होता हैं। लेकिन जैसे ही यह धीरे – धीरे पकने लगता हैं तो इसका स्वाद में थोड़ी सी मिठास आ जाती हैं।

 कमरख की अद्भुत विशेषताएँ :

डायबिटीज, कैंसर और हृदय : कमरख हृदय की शक्ति बढाने के लिए भी अत्यंत फायदेमंद होते हैं। इसीलिए यदि किसी व्यक्ति को हृदय से सम्बन्धित कोई रोग हो तो उसे इसका सेवन जरूर करना चाहिए। कैंसर और डायबिटीज रोगियों के लिए भी बहुत फायदेमंद है।

बवासीर का रोग : यदि किसी व्यक्ति को बवासीर का रोग हो गया हो तो उसे कमरख के फल का सेवन जरूर करना चाहिए। क्योंकि इसका सेवन करने से बवासीर के रोग से पीड़ित व्यक्ति को काफी आराम मिलता हैं।

भोजन के प्रति अरुचि : यदि किसी व्यक्ति को भूख कम लगती हो या उसका भोजन करने का मन न हो तो इसके लिए एक गिलास सुबह के समय कमरख का रस लें और उसमें एक चम्मच चीनी मिलाकर इस रस का सेवन करें। दो – चार दिनों तक इस रस का सेवन करने के बाद भूख बढ़ जाएगी।

रुसी : अगर किसी महिला या पुरुष के बालों में रुसी अधिक हो गई हैं तो इससे छुटकारा पाने के लिए बादाम का तेल लें और उसमें कमरख के रस के मिश्रण को मिला लें। इसके बाद इन दोनों के मिश्रण को अपने सिर में लगा लें और आधे घंटे बाद अपने बालों को धो लें। रुसी ख़त्म हो जायेगी तथा आपके बाल अधिक चमकदार हो जायेंगे।

फटी एडियाँ : यदि किसी व्यक्ति की एडियाँ फट गई हो तो इसके लिए भी आप कमरख का इस्तेमाल कर सकते हैं।

दाद और खुजली : यदि शरीर के किसी भाग में खाज – खुजली की समस्या हैं तो कमरख के पेड़ की डंडियाँ लें और कुछ पत्तियां ले लें। इसके बाद इन दोनों को एक साथ पीस लें। इसके बाद इसके मिश्रण को दाद व खुजली वाले स्थान पर लगा लें। आपको दाद – खाज खुजली से छुटकारा मिल जाएगा।

रक्तपित्त : कमरख का रस पीने से रक्तपित्त के रोग में भी लाभ होता हैं।

शरीर की शक्ति में वृद्धि : कमरख के पके पके हुए फल का सेवन करने से शरीर में ताजगी आती हैं और शरीर की शक्ति में वृद्धि होती हैं। कमरख के फल का सेवन कालीमिर्च के पाउडर, मिर्ची पाउडर, जीरा पाउडर और चीनी के साथ किया जा सकता हैं।

गर्मी के मौसम : गर्मी के मौसम के लिए यह फल बहुत ही श्रेष्ठ माना जाता हैं क्योंकि गर्मी के दिनों में गर्म तेज हवाओं के रूप में चलने वाली लू का प्रभाव इसे खाने वाले व्यक्ति पर नहीं पड़ता।
बुखार : इसका सेवन करने से बुखार जल्दी उतर जाता हैं।

शरीर को ठंडक : कमरख के फल का गर्मियों के दिनों में आम के फल की ही भांति पन्ना बनाया जाता हैं माना जाता हैं कि कमरख के पन्ने की तासीर बहुत ही ठंडी होती हैं। जिससे गर्मी के दिनों में इसे पीने वाल व्यक्ति के शरीर को ठंडक मिलती हैं और उसे अधिक प्यास नहीं लगती।
गर्मी के मौसम में कमरक के अचार और चटनी का भी सेवन किया जाता हैं। ये दोनों भी गर्मी के दिनों के लिए काफी लाभकारी सिद्ध होते हैं।

माँ – शिशु : जिन महिलाओं को बच्चे को जन्म देने के पश्चात् दूध स्रावण की समस्या रहती हैं उस महिला को इस समस्या से निजात पाने के लिए कमरख के फल का सेवन जरूर करना चाहिए।

मदिरा का नशा उतरे : कमरक के फल का रस भी बनाया जा सकता हैं। इसका रस भी बहुत ही गुणकारी होता हैं। इसका रस पीने से मदिरा का नशा उतर जाता हैं।

रक्त प्रदर : अगर किसी व्यक्ति को रक्त प्रदर की समस्या हो तो वह इस समस्या से निजात पाने के लिए कमरख के फल का सेवन कर सकता हैं।

जहरीले जंतु के डंक से बचाए : यदि किसी जहरीले जंतु ने किसी व्यक्ति को डंक मार दिया हो तो उस जंतु के विषैले जहर के प्रभाव को रोकने के लिए आप कमरख का प्रयोग कर सकते हैं।

पेचिस : कमरख का प्रयोग पेचिस की बीमारी को ठीक करने के लिए भी किया जा सकता हैं।

पेट के कीड़े नष्ट : कमरख के फल की ही भांति कमरख के फूल भी लाभदायक होते हैं। क्योंकि इसके फूलों का प्रयोग करने से पेट के कीड़े नष्ट हो जाते हैं।

लोहे का जंग : यदि किसी कपडे पर लोहे के जंग का दाग लग जाएँ तो यह फल उस दाग को भी खत्म करने के लिए लाभकारी होता हैं। कपडे के दाग हटाने के लिए कमरख का फल लें और उसे दाग वाले स्थान पर अच्छी तरह से रगड दें। इसके बाद इस कपडे को पानी से 8 से 10 मिनट के बाद धो लें। दाग बिल्कुल हट जाएगा।

कृपया ध्यान दे – सावधानी : यदि कोई महिला गर्भवती हैं तो उसे कमरख के फल का बिल्कुल भी सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि कमरख के फल का सेवन करने से ग-र्भपात हो सकता हैं।

महत्त्वपूर्ण सुचना: यहाँ दी गई जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हरसम्भव प्रयास किया गया है। यहाँ उपलब्ध सभी लेख पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए है और इसकीनैतिक जि़म्मेदारी www.braahmi.com  की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपनेचिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। आपका चिकित्सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्प नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here