मेकअप किट को साझा करने से संक्रमण का खतरा 

0
43

आमतौर पर देखा जाता है कि महिलाएं अपनी सहेलियों के साथ मेकअप किट यानी सौंदर्य प्रशाधन को साझा करती हैं। हालांकि आपस में जरूरत की चीजों को आदान प्रदान करने में बुराई नही है लेकिन यदि आप अपने सहेली द्वारा इस्तेमाल की गई क्रीम या लोशन का उपयोग करती हैं तो इससे त्वचा की बीमारियों के फैलने का खतरा रहता है।
किसी दूसरे के मेकअप किट में ज्यादा महंगी क्लींजिंग डिवाइस देखकर आप उसे शेयर करने की गलती मत कीजिएगा। ऐसा करने से आप किसी दूसरे की मृत त्वचा या फिर उसके चेहरे के ऑयल को अपने चेहरे तक ले आएंगी।

किसी का स्पंज या फिर ब्रश यूज कर रही हैं तो पहले उसकी सफाई पर ध्यान दें क्योंकि क्लींजिंग डिवाइस पर सबसे ज्यादा डेड स्किन या फिर जीवाणु चिपकते हैं। स्पंज या ब्रश शेयर करने से पहले इन्हें अच्छी तरह साबुन या फिर शैंपू से साफ करें, इन्हें गर्म पानी में कुछ देर तक भिगो कर रखें और फिर तेज धूप में सूखने के लिए रख दें। ऐसा करने से इनके अंदर मौजूद जीवाणु नष्ट हो जाएंगे। fिवभिन्न शोधों से पता चला है कि होंठों में होने वाले घाव या फिर वायरस सीधे लिपस्टिक के संपर्क में आ जाते हैं और होंठों पर फफोले या फिर घाव का कारण बन सकते हैं। कभी-कभार तो वायरस इतना फैल जाता है कि बुखार की स्थिति भी बन जाती है।

त्वचा विशेषज्ञों के मुताबिक दूसरे की लिपस्टिक का इस्तेमाल संक्रामक बीमारी का खतरा बढ़ा देता है। एक अन्य त्वचा रोग विशेषज्ञ के अनुसार यदि आप रोलर बॉल या स्पंज का इस्तेमाल होंठों पर कर रही हैं तो इससे दूसरे के मुंह के जीवाणु आपके शरीर में भी जा सकते हैं। शोध कहते हैं कि कंजंक्टिवाइटिस आंखों में होने वाला सबसे आम संक्रमण है, जो गंदी सौन्दर्य सामग्री के कारण होता है।

यदि आप किसी दूसरे के सौन्दर्य उत्पादों को आंखों में इस्तेमाल कर रही हैं तो अच्छी तरह साफ कर लें, सामग्री को पैक करके रखें, ताकि वे धूल-मिट्टी से बची रहें। अक्सर देखने में आता है कि यदि दो लड़कियां एक ही बाथरूम शेयर कर रही हैं तो वे अपने रेजर को बाथरूम में छोड़ देती है, ऐसा करने से भी संक्रमण फैल सकता है। खासकर टब में इनका इस्तेमाल करने की स्थिति खतरनाक हो सकती है। रेजर के जरिए एक-दूसरे की त्वचा में वायरस का संक्रमण हो सकता है। यहां तक यदि नल पर भी कुछ रक्त कोशिकाएं लगी रह जाती हैं तो वे भी वायरस का खतरा पैदा कर देती हैं। ऐसे में रेजर की साफ-सफाई और उन्हें बाथरूम से अलग रखने की आदत डालें।