महिलाओं में यूरिनरी लीकेज के लिए जिम्मेंदार जीन की हुई पहचान

0
39

वाशिंगटन । शोधकर्ताओं ने मूत्र का रिसाव यानी यूरिनरी लीकेज की समस्या से जूझ रहीं महिलाओं के इलाज की दिशा में एक कदम बढ़ाते हुए समस्या के लिए जिम्मेदार एक जीन की पहचान की है। यह जीन मूत्राशय के संकुचन में अपनी अहम भूमिका निभाता है। यूरिनरी लीकेज महसूस करना महिलाओं की आम समस्या है। करीब 50 फीसदी महिलाओं कभी न कभी इस समस्या का एहसास होता है। लंदन के इंपीरियल कॉलेज में आगंतुक शोधकर्ता रूफुस कार्टराइट ने कहा कि कम से कम 25 फीसदी महिलाओं की यह समस्या इतनी विकराल होती है कि इससे उनकी जीवन की गुणवत्ता प्रभावित होती है। कार्टराइट ने कहा कि इसलिए इस समस्या का अनुवांशिक कारण तथा प्रभावी इलाज की खोज प्राथमिकता में है। नए निष्कर्ष के मुताबिक, अन्य बीमारियों के इलाज के लिए इस्तेमाल में लाई जा रही दवाएं ही यूरिनरी लीकेज की समस्या के निदान में कारगर साबित होंगी। शोधकर्ताओं ने फिनलैंड तथा ब्रिटेन में तीन समूहों की 9,000 महिला प्रतिभागियों का जीनोम-वाइड एसोसिएशन स्टडी (जीडब्ल्यूएएस) किया और छह अध्ययनों के बाद अपने निष्कर्ष की पुष्टि की।

शोधकर्ताओं ने ‘इंडोथेलिन जीन’ की पहचान की, जो मूत्राशय के संकुचन की प्रप्रिया में शामिल पाया गया।इंडोथेलिन की कार्यशैली को प्रभावित करने के लिए उन्हीं दवाओं का इस्तेमाल किया जाएगा, जिन्हें पल्मोनरी हाइपरटेंशन तथा रायनुड्स सिंड्रोम के इलाज में किया जाता है।