मलेशिया में आयोजित किया जाएगा आयुर्वेदिक दवाइयों पर सम्मेलन

0
10

सिंगापुर । भारत में प्राचीन काल से उपयोग की जा रही आयुर्वेदिक दवा ,दक्षिण भारत में उत्पन्न होने वाली सिद्ध दवाओं, वैकल्पिक दवाइयों, जड़ी-बूटियों और हरे पौधे पर सम्मेलन अगले माह मलेशिया में आयोजित किया जाएगा। श्री गुरूजी फाउंडेशन ऑफ मलेशिया के मुताबिक ट्रैडेल्थ कन्वेंशन का आयोजन 18 से 20 अगस्त को किया जाएगा। इस सम्मेलन में आयुर्वेद, सिद्ध दवाइयों और चिकित्सकों पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा। फाउंडेशन का लक्ष्य सम्मेलन के बाद बैंगलोर स्थित स्वामी विवेकानंद योग अनुसंधान संस्थान विश्वविद्यालय के सहयोग से मलेशिया में एक प्रशिक्षण कार्यक्रम की शुरूआत करना है।

वैकल्पिक दवाइयों, जड़ी-बूटियों एवं हरे पौधों और सिद्ध दवाइयों पर तीन सम्मेलन होंगे। इसमें मलय एवं चीनी दवाइयों पर भी विचार विमर्श किया जाएगा। फाउंडेशन के प्रतिनिधि रामचंद्रन मयप्पन ने सिंगापुर में आयोजित दूसरे अंतरराष्ट्रीय आयुर्वेद सम्मेलन में कहा कि इस सम्मेलन को मलेशिया स्वास्थ्य मंत्रालय और कुआलालम्पुर में भारतीय उच्चायोग मदद कर रहा है।

इस समय आयुर्वेद और सिद्ध समेत भारतीय रसायन रहित दवाइयां मलेशिया में प्रयोग की जाने वाली कुल पारंपरिक दवाइयों का एक केवल एक प्रतिशत हैं। मलेशिया की कुल तीन करोड़ तीन लाख 30 हजार की आबादी में सात प्रतिशत भारतीय मूल के लोग हैं। इसे देखते हुए भारतीय आयुर्वेदिक दवाइयों के इस्तेमाल को यहां प्रोत्साहित किया जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here