मई में एक करोड़ से अधिक यात्रियों ने की घरेलू विमान यात्रा

0
7

नई दिल्ली । घरेलू हवाई यात्रियों की संख्या में मई माह में भारी बढ़ोतरी दर्ज की गई है। डीजीसीए के अनुसार अकेले मई माह में एक एक करोड़ से अधिक यात्रियों ने घरेलू हवाई यात्राएं कीं। ऐसा पहली बार है जब इस अवधि में यात्रियों की संख्या में इतनी बढ़ोतरी दर्ज की गई है। माना जा रहा है कि जून माह में भी यात्रियों की संख्या में ब़ढ़ोतरी बनी रहेगी।
डीजीसीए के आंकड़ों के अनुसार मई 2016 की तुलना में मई 2017 में घरेलू यात्रियों की संख्या में 17.4 फीसदी की ब़ढ़ोतरी दर्ज की गई है।

पिछले साल इस अवधि में 86.7 लाख यात्रियों ने घरेलू हवाई सेवाओं का इस्तेमाल किया था। इस बार यह आंकड़ा एक करोड़ की सीमा को छू गया है। जनवरी से मई के बीच 4.6 करोड़ यात्रियों ने घरेलू यात्राएं की हैं, जो पिछले साल के मुकाबले 17.6 फीसदी ज्यादा है।

पिछले साल तेल की कीमतों की वजह से सभी विमान सेवाओं ने अपन टिकटों की दरें ब़ढ़ा दी हैं, इसके बावजूद विमान यात्रियों की संख्या में बढ़ोतरी दर्ज किया जाना विमानन क्षेत्र के अच्छे स्वास्थ्य की ओर इशारा करता है। माना जा रहा है कि विमानन कंपनियों की अनेक प्रोत्साहन योजनाओं ने बड़ी संख्या में घरेलू यात्रियों को अपनी ओर आकर्षित किया है। अनुमान है कि यह बढ़त आगे भी जारी रहेगी।

घरेलू यातायात के दो तिहाई हिस्से पर स्पाइस जेट, इंडिगो और गोएयर का कब्जा है। इस क्षेत्र में इंडिगो एयरलाइन्स की हिस्सेदारी सबसे अधिक 41.2 फीसदी है। इसके बाद काफी बड़े अंतर 17 फीसदी के साथ जेट एयरवेज का दूसरा नंबर है। एक एयरलाइन अधिकारी ने बताया कि मई के बाद जून में भी घरेलू यात्रियों की संख्या का दबाव बना हुआ है।

जुलाई माह से विमानन क्षेत्र में मंदी का दौर शुरू होता है, लेकिन माना जा रहा है कि इस बार मंदी का दौर ज्यादा दिनों तक नहीं चलेगा। त्यौहारी सीजन सितंबर से शुरू होने वाला है और इसके साथ ही घरेलू हवाई यात्राओं की मंदी भी दूर हो जाएगी। इस बार मंदी का दौर ज्यादा दिनों तक नहीं चलने की संभावनाओं को देखते हुए विमानन कंपनियां उत्साहित हैं। त्यौहारी सीजन शुरू होने के साथ ही मंदी का दौर भी समाप्त हो जाएगा।