भारी पड़ा मध्यावधि चुनाव, थेरेसा विदाई संभव

0
6

लंदन । ब्रिटेन में समय से तीन साल पहले ही हुए चुनावों में खराब प्रदर्शन को लेकर थेरेसा मे अब अपने पार्टी सदस्यों के निशाने पर हैं। मे के खिलाफ उनकी कंज़रवेटिव पार्टी में बगावत के सुर उभरने लगे हैं। पार्टी सदस्यों ने थेरेसा से साफ कर दिया है कि अब सरकार में उनके गिनती के दिन बचे हैं।
चुनाव में बहुमत नहीं मिलने के बाद थेरेसा को अपने दो करीबी सहयोगियों को पार्टी से हटाने को मजबूर होना पड़ा। जॉइंट चीफ ऑफ स्टाफ निक टिमथी और फिओना हिल की विदाई के बाद अब पार्टी नेताओं ने थेरेसा मे को भी चेतावनी दी है कि गुरुवार को हुए चुनाव के बाद संसद में बहुमत खोने से अब उनकी भी विदाई हो सकती है। बता दें कि मे ने टिमथी और हिल पर भरोसा कर के ही मध्यावधि चुनाव करवाने का फैसला लिया था।

टिमथी ने कहाकि वह कंज़रवेटिव पार्टी के घोषणापत्र की जिम्मेदारी लेते हैं, जिसमें वृद्धों के लिए सोशल केयर स्कीम भी शामिल थी। इस स्कीम से नाराज कई वोटर्स ने पार्टी का साथ छोड़ दिया है। टिमथी और हिल के इस्तीफे की खबर उस वक्त आई जब मे अपने कैबिनेट मंत्रियों के नाम तय कर रही हैं और उन्होंने यह भी घोषणा कर दी है कि उनके मौजूदा टॉप 5 मंत्री अपने पदों पर बने रहेंगे।

अखबार ‘सन’ के मुताबिक पार्टी के वरि… नेताओं ने यह तय किया है कि वे जल्द से जल्द मे से छुटकारा पा लेंगे। हालांकि फिलहाल इसके लिए 6 महीने इंतजार किया जाएगा क्योंकि पार्टी को यह भी डर सता रहा है कि किसी भी तरह की अंदरूनी कलह का फायदा उठाकर लेबर पार्टी के नेता जेरेमी कॉर्बिन सत्ता में आ सकते हैं। पार्टी के एक सूत्र ने बताया कि फिलहाल मे अपने पद पर बनी रहेंगी। मे ने ब्रिटेन को यूरोपीय संघ से बाहर करने की अपनी योजना को लेकर बहुमत हासिल करने के इरादे से मध्यावधि चुनाव करवाए लेकिन उनकी पार्टी ही इस मुद्दे पर कई धड़ों में बंटी हुई है। इसका अर्थ है कि अगले कई सालों में भी ब्रिटेनवालों को यह नहीं पता होगा कि देश के व्यापार नियम क्या होने वाले हैं। चुनाव नतीजों के बाद ब्रिटिश पाउंड भी डॉलर की तुलना में कमजोर पड़ गया है। हालांकि, मे अगर ब्रिटेन को सफलतापूर्वक यूरोपीय संघ से बाहर निकाल लेती हैं तो उन्हें पार्टी का समर्थन मिल सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here