बेहतर पाचन तंत्र के लिए आयुर्वेद और योग के टिप्स

0
335

भोजन क्या है जो हमें ऊर्जा और अच्छा स्वस्थ्य देता है। लेकिन यह हमें सूजन या अपच देता है इसका मतलब यह नहीं है कि हम सही खाना नहीं खा रहे हैं या, भोजन को सही तरीके से नहीं ले रहे हैं। हमारे आयुर्वेदिक् नुस्खे और योग आसन आपको ठीक से भोजन पाचन में मदद करेगा और आपको दिन भर हल्का व् आरामदायक महसूस होगा।

अगर आप एक भोजन दोष का परीक्षण करते हैं तो आप अपने भोजन लेने के लिए नियमों की खोज कर सकते हैं, इससे आपको अपने भोजन दोष के प्रकार के बारे में आयुर्वेदिक हिदायतें मिल सकती हैं। उदाहरण के लिए, जिन लोग को गैस/वात समस्या है उन्हें आयुर्वेद काली या हरी चाय पीने के लिए सिफारिश नहीं करते हैं, और जिन लोगों को कफ है उन्हें कभी-कभी उपवास से भी लाभ पहुँचता है। हालांकि, यहाँ कुछ आयुर्वेद हिदायतें हैं जो कि हर किसी व्यक्ति पर लागू होती हैं।

अपने दिन की सुरुआत एक गिलास पानी से करें: सुबह सबसे पहले खाली पेट एक गिलास गर्म पानी पीना चाहिए, इससे आपके दिन की शुरुआत में पाचन तंत्र का शुभारंभ होगा इससे पाचन तंत्र मजबूत होता है ।

हमेशा ताजा पका हुआ खाना खाएँ: ताजे भोजन में अधिक पोषक तत्व होते है और बेहतर स्वाद भी आता है। कई दिनों के लिए भोजन को ज्यादा मात्रा में नहीं बनाना चाहिए, ज्यादा खाना बनाने के बजाय आप आसान तरीके से हल्के फुल्के व्यंजन जल्दी तैयार कर सकते हैं। और भोजन को कमरे के तापमान/गर्म पर ही खाना चाहिए क्योंकि गर्म भोजन पाचन के लिए सबसे अच्छा होता है।

दिन में खाना खाने का नियम: हर रोज एक ही समय पर खाना खाना चाहिए इससे हमारा पाचन तंत्र भोजन का ठीक पाचन करने का आदि हो जाता है गलत समय पर भोजन करने पर ठीक से पाचन नहीं हो पाता है जिसे हमे गैस की या अन्य समस्या होती है इसलिए प्रत्येक दिन एक ही समय पर भोजन करना अच्छा विचार है।

पर्याप्त भोजन के बाद नहीं खाना चाहिए: कई बार आपने अपना भोजन पर्याप्त मात्रा में किया होता है फिर की आप देखते है की कही पार्टी में या आपका मित्र आपको बहुत स्वादिष्ट भोजन करने के लिए आमंत्रित करता है, तो आप खुद को रोक नहीं पाते हैं। ऐसा आप को बिल्कुल नहीं करना चाहिए जब तक की आपका पिछला भोजन ठीक से न पच जाए तब तक आपको दूसरा भोजन नहीं करना चाहिए, इससे आपका पाचन तंत्र ख़राब होता है।

खाना खाने में पर्याप्त समय लें: हमेशा अच्छी तरह से अपने भोजन चबाने और एक मध्यम गति से खाना खाने यह हमारे भोजन के पाचन के लिए महत्वपूर्ण है। एक बार जब आप भोजन समाप्त कर रहे हैं, तो उसके पहले कुछ मिनट के लिए चुपचाप बैठ जाएँ और अपने पाचन तंत्र को अपना काम ठीक से करने दें।

गैस उत्पादन खाद्य पदार्थों से सावधान रहें: आप अक्सर भोजन करने के बाद फूला हुआ महसूस करते हैं, यह कई खाद्य पदार्थों की वजह से होता है जो आपके पेट में गैस का उत्पादन करते हैं। तो कोशिश करें की ऐसे पदार्थ न खाएं जो गैस उत्सर्जन करते हैं जैसे: ब्रोकोली, गोभी, सेम, उड़द की दाल, इत्यादि। अगर आप ऐसे पदर्थ खाते हैं तो इन्हें काली मिर्च, इलायची, जीरा के साथ खाना बना कर खाना चाहिए।

पाचन तंत्र में सुधार लाने के लिए योग: हमारे पाचन तंत्र को ठीक रखने, मजबूत बनानें के लिए योग एक बहुत अच्छा उपाय है, हम अपने पाचन तंत्र के अंगों को लक्ष्य बनाकर योग कर सकते हैं। और आप कुछ दिनों बाद महसूस करेंगे की आपके पाचन की समस्याए दूर हो रही हैं। अच्छे पाचन के लिए इन योगों का प्रयोग करें।

बेहतर पाचन तंत्र के लिए 7 योग की मुद्राएँ: अपना पाचन तंत्र को अच्छा करने के लिए आप को इन 7 योग आसनो को जरुर करना चाहिए, इन योग मुद्राओं को विस्तार में जानने के लिए दिए गए लिंक पर क्लीक करें।