बुढ़ापे से बचने के लिए करें ये एक्सरसाइज, ताउम्र रहेंगे जवां

0
220

रेग्युलर एक्सरसाइज-योगाभ्यास करते हुए आसानी से फिट रहा जा सकता है। लेकिन इन्हें करने से पहले एज फैक्टर का ख्याल भी रखना जरूरी है, तभी इसका पूरा लाभ मिलता है।

जानिए, उम्र के अनुसार कौन-सी एक्सरसाइज ज्यादा लाभकारी होती हैं। इस बारे में फिटनेस ट्रेनर जितेंद्र कौशिक जानकारी दे रहे हैं। आप वर्किंग हों या फिर हाउसवाइफ, फिटनेस को लेकर सभी को कॉन्शस रहना चाहिए।

फिट-फाइन रहने का सबसे आसान तरीका है, एक्सरसाइज करना। लेकिन एक्सरसाइज करते वक्त इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि आपकी एज क्या है। इससे आपको कम समय में मनचाहा फिटनेस रिजल्ट मिलेगा।

यंग एज  अगर आपकी उम्र बीस साल से पैंतीस साल के बीच है, तो इस उम्र में कम समय देकर भी एक्ससाइज से फिट रह सकती हैं। इससे आप अपनी स्टेमिना को बढ़ा सकती हैं।

इसके लिए आप हाई नी रेस, जंपिंग जैक्स और पुशअप्स कर सकती हैं। जहां हाई नी रेस आपके पैरों को स्ट्रेंथ देने के साथ-साथ टोंड भी करेगी, वहीं जंपिंग जैक्स से पूरे शरीर की टोनिंग हो जाती है।

महिलाओं के लिए वजन कम करने के लिए यह एक बेहतर एक्सरसाइज है। इसके अलावा पुशअप्स भी आपको फिट रखते हैं। जब आप यह एक्सरसाइज करें, तो प्लैंक पोज करना न भूलें। इससे टमी टोनअप होती है।

मिडिल एज  अगर आपकी उम्र पैंतीस साल से अधिक है, तो आपको एक्सरसाइज करते समय काफी बातों का ध्यान रखना चाहिए। खासतौर से, मेनोपॉज के बाद महिलाओं के शरीर में कई तरह के बदलाव होते हैं।

अगर आप रेग्युलर एक्सरसाइज करती हैं, तो इस उम्र में होने वानी परेशानियों से आसानी से निपट सकती हैं। इस उम्र में चंूकि मसल्स काफी कमजोर होने लगती हैं, इसलिए आपकी एक्सरसाइज ऐसी होनी चाहिए जो स्ट्रेंथ को बढ़ाए।

उम्र के इस दौर में आप खुद को पूरी तरह मेंटेन करना चाहती हैं, तो वेट लिफ्टिंग के जरिए ऐसा कर सकती हैं। वहीं कार्डियो एक्सरसाइज बढ़ते वजन को कम करने में मदद करेगी और वेट लिफ्टिंग से आपकी मसल्स कमजोर नहीं पड़ेंगी। इस एज में एक्सरसाइज शुरू करने से पहले वॉर्मअप जरूर करें।

योगा भी है मददगार  योगा के बारे में योगा ट्रेनर नेहा वशिष्ठ का कहना है कि महिलाओं की फिटनेस को बरकरार रखने में योगासन भी अहम भूमिका निभाते हैं। भुजंगासन, मत्स्येंद्रासन, शलभासन, सेतुबंधासन, कुछ ऐसे योगासन हैं, जिन्हें करते हुए हर उम्र की महिलाएं आसानी से फिट रह सकती हैं।

अगर यंग एज में हैं, तो आप अपनी सेहत को बनाए रखने के लिए शीर्षासन, सर्वांगासन, हलासन नियमित रूप से कर सकती हैं। वहीं मिड एज में कटिचक्रासन, मर्कटासन, शशकासन करना लाभकारी माना जाता है।

वैसे सूर्य नमस्कार भी हर उम्र की महिलाएं कर सकती हैं। हालांकि मिडिल एज में सूर्य नमस्कार करते समय कुछ पोश्चर को ट्रेनर के निर्देशानुसार मॉडिफाई करना जरूरी है।

हमेशा ध्यान रखें कि जब भी कोई योगासन या योगाभ्यास शुरू करें, तो पहले योगा एक्सपर्ट की देख-रेख में करें। जब अच्छे से सीख जाएं, तो घर पर अभ्यास करें।