बच्चों के लिए जरूरी अच्छी आदतें 

0
7

कम उम्र में सिखाई गई बातें इंसान को लंबे समय तक याद रहती हैं या इसे यूं कहे कि यही बातें उनकी आदत बन जाती हैं। वैसे तो हर माता-पिता और बुजुर्ग अपने बच्चों को अच्छी आदतें अपनाने को कहते हैं लेकिन कई बार हम बच्चों की बुरी आदतों को नजरअंदाज भी कर देते हैं या उन्हें सही आदतों का ज्ञान कराने में लापरवाही बरतते हैं जो उन्हें आगे चलकर काफी नुकसान पहुंचाती हैं। ये आठ आदतें हर माता पिता को अपने बच्चों को जरूर सिखानी चाहिए।

– सुबह जल्दी उठने की आदत, यदि बच्चों में बचपन से ही सुबह जल्दी उठने की आदत डाल दें तो यह ताउम्र बनी रहती है। दरअसल सुबह जल्दी उठने से हमारा दिमाग तनावमुक्त रहता है और दिनभर ताजगी बनी रहती है। साथ ही सुबह जल्दी उठकर आप व्यायाम के लिए भी समय निकाल सकते हैं जो आपको तंदुरुस्त बनाए रखता है। एक शोध में ये भी पाया गया है की सुबह जल्दी उठने वाले लोगों में अवसाद का खतरा काफी कम हो जाता है।

-जमीन पर बैठकर खाना खाने की आदत डालनी चाहिए। आजकल लोग डायनिंग टेबल पर बैठकर ही खाना खाते हैं लेकिन पुराने जमाने में ज्यादातर लोग जमीन पर बैठकर ही खाना खाते थे और ये स्वास्थ्य के लिए भी ज्यादा फायदेमंद होता हैं। दरअसल जमीन पर बैठकर खाना खाने से हमारे शरीर की मुद्रा ऐसी होती है जिससे हमारी पाचन क्रिया सही रहती है और साथ ही इससे हमारे घुटने और कोहनिया मजबूत होती हैं। इसके अलावा जमीन पर बैठकर खाना खाने से ना सिर्फ शरीर में रक्तसंचार सुचारु रहता है बल्कि ये वजन कम करने में भी सहायक होता है !

– खाने के बीच में पानी ना पीएं, बच्चों की अक्सर ये आदत होती है की वो खाने खाते समय बीच बीच में पानी पीते हैं लेकिन इससे पाचन क्रिया बिगड़ती है और पेट को खाना पचाने में समय लगता है इसे पेट में अपच होना, गैस बनना और ब्लड शुगर लेवल बढ़ जाने जैसी समस्याएं हो सकती है।

– शाम को भोजन करें ,आजकल की जीवनशैली में लोग रात का भोजन काफी देर से करते हैं जो सही नहीं है। दरअसल आयुर्वेद की मानें तो रात का खाना खाने का सही समय सूर्यास्त के समय ही है। इससे शरीर और प्राकृतिक चक्र के बीच में तालमेल बना रहता है जिससे सोने से पहले खाना पच जाता है और नींद भी अच्छी आती है।

– गर्म पानी से ना धोएं बाल, बच्चों को कभी भी अपने बाल गर्म पानी से नहीं धोने चाहिए और यही आदत बच्चों को भी सिखानी चाहिए क्योंकि गर्म पानी से बाल धोने से सिर की त्वचा में सूखापन आता है और साथ ही सिर की त्वचा स्किन का पीएच भी बढ़ता है इससे बाल कमजोर हो जाते हैं और बाल झड़ने लगते हैं।

– भोजन करने से पहले और बाद में हाथ धोने की आदत डालें, बच्चे खेल कूद में लगे रहते हैं ऐसे में उनके हाथ गंदे हो जाते हैं और उनमे कई तरह के जीवाणु लग जाते हैं और जब वे इन्हीं हाथों से खाना खाते हैं तो उन्हें डायरिया, भोजन से जुड़े संक्रमण और हेपटाइटिस जैसी समस्याएं होने का खतरा होता है। इसलिए बच्चों में हमेशा ये आदत डालें की खाना खाने से पहले और बाद में अपने हाथ जरूर धोएं ताकि हाथों में साफ़ सफाई बनी रहे और गंदगी पेट में ना जाये।

– खेलने के बाद हाथ-पैर धोएं ,बच्चे बाहर खेलते हैं तो उनके शरीर पर कई तरह की गंदगी लग जाती है जिससे कई प्रकार के जीवाणु पनपते हैं जो सेहत के लिए काफी हानिकारक होते हैं। ऐसे में बच्चों को हमेशा सिखाएं की जब भी कहीं घूमकर आये या खेलकर आये तो अपने हाथ पैर अच्छे से धोएं।

– पूजा एवं ध्यान करना सिखाएं, बच्चों को शुरू से ही भगवान की पूजा अर्चना की आदत डालें क्योंकि इससे बच्चों में अध्यात्म का ज्ञान बढ़ेगा और इससे उनका मन और मस्तिष्क शांत रहेंगा और पढ़ाई में मन लगेगा।