फायरफाइटर, ड्राइवर और प्लंबर का काम कर रहीं महिलाएं

0
21

आजकल हर क्षेत्र में महिलाएं सफलताएं हासिल कर रही हैं और वे उन जगहों पर भी पहुंच गई हैं जो काफी कठिन माना जाता है। फायरफाइटर यानि दमकलकर्मी के अलावा आज महिलाएं ट्रेन चला रही हैं विमान उड़ा रही हैं। इसके अलावा वे सामान्य तकनीकी काम प्लंबर, फिटर और मैकेनिक का काम भी कर रही हैं। इस दौरान महिलाओं ने दिखाया है कि वे किसी भी भूमिका में पुरूष सहकर्मियों से पीछे नहीं हैं।

दुनिया भर में कामकाज की जगहों पर बेहतर लैंगिक संतुलन बनाने यानि अधिक से अधिक महिलाओं को वर्कफोर्स में शामिल करने का आह्वान हो रहा है। फायरफाइटर का काम करने वाली निकारागुआ की योलेना टालावेरा ने कहा, जब मैंने अग्निशमन दल में काम शुरू किया था, तब पुरुषों को लगता था कि सख्त ट्रेनिंग के चलते मैं ज्यादा दिन नहीं टिक सकूंगी हालांकि मैंने दिखा दिया कि मैं भी कठिन से कठिन चुनौती संभालने के लायक हूं।

प्लंबरिंग का काम भी कर रहीं खावला
खावला शेख जॉर्डन के अम्मान में प्लंबर का काम करती हैं और दूसरी महिलाओं को प्लंबिंग का काम सिखाती भी हैं। शेख का कहना है कि घरेलू महिलाएं अपने घर में मरम्मत के लिए महिला प्लंबर को बुलाने में ज्यादा सुरक्षित महसूस करती हैं। इसके अलावा वे, लैंगिक असामना को कम करने के लिए सभी ऐसे क्षेत्रों में महिलाओं और पुरुषों दोनों को काम सीखने के बराबर मौके दिए जाने की वकालत करती हैं।

फ्रांस के ऑइस्टर फार्म में अपनी नाव पर खड़ी फोटो खिंचवाती वैलेरी पेरॉन कहती है कि लैंगिक बराबरी की सीख बचपन में जल्द से जल्द दे देनी चाहिए। वैलेरी कहती हैं, यह तो हमारे ऊपर है कि जब लड़कों को बड़ा करें तो उनमें बचपन से ही औरतों से बराबरी का जज्बा डालें। बचपन की परवरिश को सुधारने की जरूरत है। लड़के चाहें तो गुड़िया से खेलें और लड़कियां चाहें तो खिलौना कारों से।

बैकहो भी है महिलाओं के लिए
फिलीपींस की ओकॉल एक ट्रक ऑपरेटर हैं। तीन बच्चों की इस मां को अपनी काबिलियत पर पूरा भरोसा है। वे कहती हैं। बड़े ट्रक चलाने वाली बहुत कम महिलाएं हैं लेकिन अगर पुरुष कोई काम कर सकते हैं तो महिलाएं क्यों नहीं? मैं तो पुरुषों से इस मामले में बेहतर हूं।

महिला का एक ट्रेन ड्राइवर होना
इस्तांबुल, तुर्की की सेर्पिल सिग्डेम एक ट्रेन ड्राइवर है।उनका कहना है कि जब मैंने ड्राइवर की नौकरी के लिए आवेदन किया था, तब मुझे कहा गया कि यह पुरुषों का पेशा है। इसीलिए मुझे लिखित परीक्षा में पुरुषों से बहुत आगे निकलना था तभी नौकरी की संभावना बनती.

हर दिन महिलाओं की परीक्षा
स्पेन के मैड्रिड में पालोमा ग्रानेरो इनडोर स्काईडाइविंग के विंड टनेल की हवा में गोते लगाती हुई। ग्रानेरो खुद एक स्काईडाइविंग इंसट्रक्टर हैं। उनका कहना है कि पुरुषों को कुछ साबित नहीं करता पड़ता, जैसे हमें करना पड़ता है। यहां भी इंसट्रक्टर का काम ज्यादातर पुरुषों को जाता है और ज्यादातर औरतों को प्रशासनिक काम ही करने को मिलता है।