पूर्व क्रिकेटर बोला, विराट को खलनायक न बनाये मीडिया

0
5

नई दिल्ली (ईएमएस)। पूर्व क्रिकेटर विक्रम राठौड़ ने कोच अनिल कुंबले और कप्तान विराट कोहली के बीच हुए विवाद को दुखद बताते हुए कहा कि इस मामले में विराट को खलनायक के तौर पर नहीं पेश करना चाहिये। भारत ने जब पिछली बार कोहली की कप्तानी और कुंबले की कोचिंग में वेस्ट इंडीज का दौरा किया था उस समय राठौड़ चयनकर्ता थे। किसी पर आरोप लगाए बिना राठौड़ ने इस पूरे घटनाक्रम में कोहली का समर्थन किया। उन्होंने कहा कि अगर कोहली कुंबले के साथ तालमेल नहीं बैठा पाए तो इसके लिए उन्हें दोष नहीं देना चाहिए। इस पूर्व सलामी बल्लेबाज ने कहा, ‘कप्तान ने कुंबले के कामकाज के तरीके पर अपने दिल की बात कही जो एक बड़ा विवाद बन गई। इसके लिए कोहली को खलनायक नहीं बनाना चाहिए। यह आखिरकार दो सर्वश्रे… खिलाड़ियों के बीच बात है। इस मामले को बेहतर तरीके से हल किया जा सकता था। यहां वैचारिक मतभेद का मामला है।’

उन्होंने कहा कि भारतीय क्रिकेट के लिए कप्तान और कोच में मतभेद होना नई बात नहीं है। पहले भी ऐसा हो चुका है और इसलिए उन्हें इस पर कोई हैरानी नहीं है। राठौड़ ने कहा, ‘यह पहली बार नहीं है जब कोच और कप्तान में मतभेद की बात सामने आई हो। मैं उस वेस्ट इंडीज के दौरे का हिस्सा था जहां कोहली और कुंबले साथ काम कर रहे थे। मुझे वहां कोई अलगाव नजर नहीं आया हालांकि वे शुरुआती दिन थे।’ उन्होंने यह भी कहा कि टीम चयन में कप्तान और कोच की बात अंतिम होती थी और चयनकर्ता केवल अपनी राय व्यक्त करते थे। राठौड़ कुंबले के स्थान पर किसी भारतीय को ही कोच बनाने के समर्थक हैं। उन्होंने कहा, ‘भारतीय कोच का प्रदर्शन अच्छा रहा है। कुंबले का रेकॉर्ड भी शानदार रहा है इसलिए जरूरी है कि किसी भारतीय को ही कोचिंग की जिम्मेदारी दी जाए।’

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here