पुराने गहने और ज्वैलरी बेचने पर लगेगा टैक्स

0
5

नई दिल्ली । वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) लागू हो जाने पर ग्राहकों को पुराने गहने और ज्वैलरी बेचना आसान नहीं होगा। जीएसटी आने पर यह सब आन पेपर हो जाएगा। ज्वैलर्स को अब पुरानी ज्वैलरी खरीदने पर रिवर्स चार्ज देना होगा। साथ ही उसे अपने रिकॉर्ड बुक में भी पुराने गहनों की खरीदारी की डिटेल देना होगा। पुराने गोल्ड को बेचने की ऐसी प्रैक्टिस को ऑन रिकॉर्ड लाने का काम सरकार कर रही है ताकि उसे ज्यादा से ज्यादा टैक्स मिल सके। सरकार ज्वैलरी खरीदने और बेचने वाले का रिकॉर्ड रखना चाहती है। इसलिए सरकार ने जीएसटी में कुछ नियम तय किए हैं।