धनतेरस की रात चुपचाप यहाँ रखे 5 रूपये का सिक्का, खुल जाएगा किस्मत का हर दरवाजा

0
482

धार्मिक शास्त्रों के अनुसार धनतेरस का दिन भगवान् कुबेर और माँ लक्ष्मी का दिन माना जाता है. यही वजह है कि धनतेरस के दिन लोग बहुत सी नयी चीजे खरीदते है और भगवान् कुबेर से घर में बरकत बनाए रखने का आशीर्वाद मांगते है. बरहलाल यूँ तो आज के समय में लोगो के लिए पांच रूपये की कीमत कुछ भी नहीं, क्यूंकि आज के समय में लोग पांच रूपये तो एक मिनट में खर्च कर देते है. लेकिन आज हम आपको एक ऐसा उपाय बताने वाले है, जिससे आपकी नजरो में पांच रूपये की कीमत बहुत ज्यादा बढ़ जायेगी. जी हां बता दे कि जो उपाय हम आपको बताने वाले है वो आपको केवल पांच रूपये से ही करना है. तो चलिए अब आपको इस उपाय के बारे में बताते है, जिसे करने के बाद आपकी किस्मत रातोरात चमक जायेगी.

गौरतलब है कि धनतेरस के दिन पूजा के दौरान जब आप ज्योत आदि जलाते है और दिया बाती करते है तो उस समय पूजा में पांच रूपये का भारतीय मुद्रा वाला सिक्का जरूर शामिल करे. इसके इलावा आप चाहे तो पुराना सिक्का भी इस्तेमाल कर सकते है, लेकिन इस बात का ध्यान रखे कि वो साफ़ सुथरा होना चाहिए. इसलिए उस सिक्के को निम्बू आदि लगा कर अच्छे से साफ कर ले. बता दे कि ये सिक्का किसी भी रंग का हो सकता है और शाम को पूजन के दौरान इस सिक्के को पूजा में जरूर शामिल करना है. इसके बाद इसे दीपक यानि दीये में डाल देना है.

गौरतलब है कि पूजा के बाद आप घर के हर कोने में दीपक तो जरूर रखेंगे और इसी दौरान सिक्का डाला हुआ दीपक आपको घर के हर कोने में घुमाना है यानि इसे घर के हर कमरे में लेकर जाना है. अगर सीधे शब्दों में कहे तो इसे पूरे घर में आरती की तरह दिखाना है. इसके बाद अंत में इसे घर के मंदिर में ही रख दे. फिर इस पांच रूपये के सिक्के को दीपक से बाहर निकाल ले और इसके लिए आप चम्मच का इस्तेमाल भी कर सकते है, क्यूकि हो सकता है कि ये सिक्का काफी गर्म हो. बरहलाल इसे बाहर निकालने के बाद ये देख ले कि सिक्का ठंडा हुआ या नहीं और ठंडा होने के बाद इसे घर के मुख्य दरवाजे पर रख देना है.

बता दे कि इस सिक्के को घर के मुख्य दरवाजे पर इस तरह से रखना है, कि जब आप घर से बाहर निकले तो ये घर के दाई तरफ रखा जाए. यानि घर से निकलने पर ये सिक्का दाई तरफ दिखाई दे. बता दे कि आपके घर का जो भी आखिरी दरवाजा हो वही पर आपको इस सिक्के को दाई तरफ रखना है. इसके इलावा घर के अंदर आते समय ये सिक्का आपको बाई तरफ ही दिखाई देगा. इसके साथ ही इस सिक्के को इस तरह से रखे कि आते जाते लोगो का पैर इस पर न पड़ सके. इसके बाद अगली सुबह आपको इसे वहां से उठा लेना है. जी हां अगर आप चाहे तो इस सिक्के को पानी में प्रवाहित भी कर सकते है और चाहे तो कही गाढ़ भी सकते है. मगर आप इसे जहा भी बहाएंगे वहां बहता हुआ जल ही होना चाहिए.

बरहलाल आपको धनतेरस के दिन बस इतना सा ही उपाय करना है और इस उपाय को करने के बाद हमें यकीन है आपको कुबेर जी और माँ लक्ष्मी की कृपा जरूर प्राप्त होगी.