तले हुए आलू खाने से बढ़ सकता है मौत का खतरा

0
38

वाशिंगटन । आपका खाना जैसे पकाया जाता है, उसमें छिपा होता है कि आपका स्वास्थ्य कैसा रहेगा। यदि आप हफ्ते में दो बार या उससे ज्यादा बार प्राइड पोटाटो यानी तले हुए आलू खाते हैं, तो आप उन लोगों की तुलना में मौत के जोखिम को दोगुना करते हैं, जो ऐसा खाने से परहेज करते हैं। हाल ही में किए गए एक अध्ययन में यह जानकारी सामने आई है, जिसे अमेरिकन जर्नल ऑफ क्लिनिकल न्यूट्रिशन में प्रकाशित किया गया है। शोधकर्ताओं ने बताया कि बिना तले हुए आलू को खाने से जल्दी मौत का जोखिम नहीं रहता है। इटली के पाडोवा में नेशनल रिसर्च काउंसिल की साइंटिस्ट डॉ निकोला वेरॉनीसी ने कहा कि प्राइड आलू की खपत दुनिया भर में बढ़ रही है। वह इस अध्ययन की प्रमुख लेखक भी हैं। नेशनल पोटाटो काउंसिल के मुताबिक साल 2014 में अमेरिका में प्रति व्यव्ति 112.1 पाउंड (करीब 51 किलो) आलू का सेवन किया था।

इसमें से 33.5 पाउंड ताजे आलू थे, शेष 78.5 पाउंड प्रॉसेस्ड किए गए थे। अमेरिका के कृषि विभाग के मुताबिक, ज्यादातर अमेरिकी जो प्रॉसेस्ड आलू खाते हैं, वे प्रेंच प्राइज होते हैं। ऑस्टियोअर्थराइटिस का अध्ययन करने के लिए वेरॉनीसी और उनके सहयोगियों ने आठ साल तक 45 से 79 वर्ष की आयु के 4,440 लोगों को ट्रैक किया है। इस शोध दल ने प्रतिभागियों के आलू की खपत पर नजर रखी। उन्होंने कहा कि भले ही हम में से ज्यादातर यह मानते हैं कि तले हुए आलू हमारे लिए नुकसानदेह हो सकते हैं, लेकिन इस मुद्दे पर ‘बहुत सीमित’ वैज्ञानिक आंकड़े हैं।