जानें, क्यों है महिलाओं के लिए साइकिलिंग फायदेमंद

0
42

साइकिलिंग (Cycling) एक ऐसी फिजिकल एक्सरसाइज है जो शरीर को फिट रखने और बेहतरीन काया के लिए सर्वोत्तम मानी जाती है। बचपन में साइकिल चलाना (cycle chalana) मौजमस्ती का एक जरिया होता था लेकिन आज के समय में यह महिलाओं की लिए स्लिम और फिट रहने का एक उत्तम माध्यम है। साइकिल के दो पहिये हमारे शरीर को कई तरह के लाभ पहुंचाने में मददगार होते हैं और इसका कोई दूसरा विकल्प नहीं है। आस्ट्रेलिया में एक ताज़ा शोध का यह परिणाम है कि ऐसे लोग जो प्रत्येक सप्ताह साइकिलिंग करते हैं वे कई तरह के रोगों से दूर रहते हैं, ये ऐसे कुछ रोग हैं जो शरीर को गंभीर रूप से प्रभावित करते हैं। तो आप और हम इस मजेदार शारीरिक कसरत का फाइदा क्यों नहीं उठाते? एक अन्य क्षोद का परिणाम यह भी है कि अगर कोई 61 किलोग्राम वजन की महिला 19 से 20 किलोमीटर तक पैडलिंग करती है तो वह 60 मिनट में लगभग 2000 कैलोरी बर्न कर सकती है। अगर आप अपने ऑफिस से 8 किलोमीटर के डरे के अंदर रहते हैं तो हफ्ते में दो बार साइकिलिंग कर ऑफिस जाएँ और उसके बाद आप खुद देखेंगे की इस बदलाव के आपके शरीर पर भी कई फायदेमंद प्रभाव पड़े हैं। साइकिलिंग के स्वास्थ्य लाभ के साथ साथ आप पेट्रोल और अन्य तरह के कुछ अतिरिक्त खर्चों में भी कटौती कर सकते हैं। सुंदर और सुगठित काया हर व्यक्ति का सपना होती है। अगर आप भी यह चाहती हैं तो आज से ही आपको साइकिलिंग करने की शुरुआत कर देनी चाहिए।

आज के इस आधुनिक युग में व्यस्त जीवन और समय की कमी की वजह से हम अपनी सेहत के लिए समय ही नहीं निकाल पाते। हमारे पास रोज़मर्रा के कामों के साथ ऑफिस, मीटिंग और अन्य चीज़ें भी हैं और हम दिन पर दिन और ज़्यादा व्यस्त होते जा रहे हैं। इतने अधिक काम के दबाव में हम आसानी से अपनी सेहत के साथ समझौता कर लेते हैं और शारीरिक परेशानियों को भी नज़रअंदाज़ करने लगते हैं।

साइकिलिंग के लाभ फिटनेस की हमारे जीवन में क्या महत्ता है, क्या अपने कभी इस बारे में सोचा है? इसका जवाब है कि फिटनेस ही हमारे लिए सब कुछ है और फिटनेस तथा सेहत एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। समझौता किए बिना भी फिट रहने के कई तरीके हैं। इसमें वॉकिंग, स्विमिंग, एरोबिक्स और साइकिलिंग आदि शामिल हैं। पर अगर शोधों की मनाएँ तो साइकिलिंग पूरे शरीर के सही आकार के लिए सबसे अधिक प्रभावी उपाय है। यह हमारे मेटाबोलिस्म को बढ़ाता है और सेहत को बेहतर रखने में मदद करता है।

यह सही है कि हम आज के समय से कदम मिलाते हुये बहुत अधिक व्यस्त हो गए हैं लेकिन इस वजहसे हमें अपनी सेहत के साथ समझौता नहीं करना चाहिए। अगर आप अपनी दिनचर्या में एक्सरसाइज और कड़ी शारीरिक मेहनत को शामिल नहीं कर सकती तो आपको साइकिलिंग का सहारा ज़रूर लेना चाहिए जो आपके पूरे शरीर के लिए असरकारी रूप से परिणाम प्रदान करता है।

महिलाएं साइकिलिंग के फायदे ले सकती हैं

एनर्जी के स्तर को बढ़ाने के लिए साइकिलिंग  साइकिल के फेरे आपके शरीर के लिए बहुत लाभकारी होते हैं। अगर आप अपने सामर्थ्य अनुसार साइकिलिंग करती हैं तो इससे आपके शरीर का एनर्जी लेवल बढ़ता है और आप पहले से अधिक ऊर्जावान महसूस कर सकती हैं। थकान को दूर करने और मानसिक तनाव को कम करने में साइकिलिंग (cycling for fitness) एक बहुत प्रभावी उपचार की तरह काम करता है। इसके लिए आपको बहुत अधिक तेज राइड की ज़रूरत नहीं है। आप अपनी क्षमता के अनुसार ही साइकिलिंग करें।

शरीर के जोड़ों को सुरक्षित रखने में साइकिलिंग के लाभ  बाइक चलाने से एड़ियों, घुटनों और रीढ़ पर खिंचाव कम पड़ता है। इसकी बजाय चलने के दौरान यह खिंचाव बढ़ जाता है। साइकिलिंग करने से हड्डियों के जोड़ मजबूत रहते हैं और उन्हें पर्याप्त खिंचाव होने से मजबूती भी बनी रहती है।

दिल की सुरक्षा के लिए साइकिलिंग  आज के समय में बहुत सी महिलाएं हृदय रोगों से जूझ रही हैं उनके लिए साइकिलिंग एक बेहतरीन उपचार है। दिल के रोगों में हाइ ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल की प्रमुख भूमिका होती है। एक रिसर्च में यह पाया गया है कि जिन महिलाओं ने साइकिलिंग की, एक निश्चित समय अवधि के बाद उनके कोलेस्ट्रॉल और ब्लड प्रेशर के लेवल में कमी पाई गयी। आप भी साइकिल चला कर अपने दिल की रक्षा कर सकती हैं।

मसल्स को फिट रखने के लिए  साइकिलिंग से हमारे पूरे शरीर की एक्सरसाइज हो जाती है और यह तथ्यपूर्ण बात है कि इससे हमारे शरीर की मसल्स पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। इससे शरीर के मसल्स बहुत मजबूत होते हैं। इसके अलावा आप साइकिलिंग करते हुये आसानी से अपनी कैलोरी कम कर सकती हैं। किसी पहाड़ी जगह या रास्ते में साइकिलिंग के फायदे और भी जल्दी और कम समय में महसूस किए जा सकते हैं।

साइकिलिंग फॉर वेट लॉस  साइकिलिंग के द्वारा आप अपने पूरे शरीर को एक सा फिट रख सकती हैं। पूरे शरीर के अलग अलग अंगों के लिए आपको विभिन्न तरह के एक्सरसाइज़ों की ज़रूरत नहीं है बल्कि यह साइकिलिंग ही आपके पूरे शरीर पर एक समान रूप से अपना प्रभाव डालकर आपको फिट रख सकती है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here