जानिये कौन से रोग में कौन सा कैसा जूस पिया जाए…

0
147

शरीर की रोगप्रतिरोधक शक्ति (इम्यून पावर) बढ़ाने के लिये : दो गाजर,एक छोटा टुकड़ा अदरक,एक सेब सबको मिलाकर मिक्सी में पीसकर रस निकाल लें इस तरह से एक ग्लास रस रोजाना नाश्ते के साथ लेते रहें

कॉलेस्ट्रॉल घटाएं : एक सेब, एक ककड़ी के चार टुकड़े करके,सात गेहूं के जवारे (यानि गेहूं के दाने गमले में उगा लीजिये अब घांस जैसे पत्ते निकलते रहेंगें वही है जवारे)इन सब को पीसकर प्रति दिन एक ग्लास सुबह नाश्ते में सेवन करें।

पेट की गड़बड़ी तथा सरदर्द मिटाएं : ककड़ी चार पांच टुकड़े, थोड़ी पत्तागोभी, सलाद के पत्ते सबको पीस लें रोज सुबह इसके रस का सेवन करें।

सांस की बदबू हटाएं तथा अपना रंग निखारे : दो टमाटर, दो सेब को मिलाकर रस निकाल लें रोजाना नाश्ते में पियें। अद्वितीय लाभ होगा।

शारीरिक लक्षण : किसी किसी के शरीर का तापमान हमेशा बढ़ा रहता है उसे नार्मल करने के लिये एक करेला, दो सेब का रस रोजाना नाश्ते में सुबह सेवन करें। इससे और भी फायदे हैं जैसे मुंह से बदबू का आना, किसी- किसी की पेशाब से अधिक बदबू आती है सब ठीक हो जायेगा।

त्वचा में कांति तथा नमी बनाए रखे : रूखी त्वचा है तो दो संतरे,दो तीन अदरक का टुकड़ा,एक ककडी को पीस कर रस प्रति दिन पियें। त्वचा चमकदार हो जायेगी।

पथरी नाशक : अनानास के पाँच टुकड़े, दो सेब, तरबूज के कुछ टुकड़े इनका रस प्रति दिन सेवन करें यह यूरिनरी सिस्टम की सभी परेशानियों को दूर तो करेगी ही साथ किड़नी फंक्शन को सुधारकर पथरी का नाश करने में सहायक है।

 मधुमेह रोगियों के लिये, शर्करा (शूगर ) को नियंत्रित रखे : एक नाशपाती,छोटा अदरक का टुकड़ा,एक करेला,एक सेब, ककड़ी के चार टुकड़े,चार पाँच तुलसी के पत्ते,एक संतरा या मोसमी सबको मिलाकर रस निकाल लें इसे रोज सुबह नाश्ते में सेवन करें।रक्त शर्करा पर नियंत्रण तो होगा ही मधुमेह से संबंधित अन्य परेशानियां भी दूर होंगी,साथ रोगी को शक्ति भी देगा यानि मधुमेह से होने वाली कमजोरी भी ठीक करेगा।

 रक्तचाप को नियंत्रित रखना में सहायक : चार पांच गाजर, दो सेब ,एक नाशपाती,आम के कुछ टुकड़े सबको मिलाकर रस बनाया जाये प्रति दिन इसका सेवन किया जाये तो रक्तचाप को नियंत्रित कर शरीर का विकास भी करेगा।

 सर दर्द : सुबह तरबूज का रस निकाल कर उसमें काला नमक डालकर पियें इससे सर दर्द ,उल्टी परमानेंट ठीक हो जाता है किडनी का स्टोन गलाकर बाहर निकालताहै।किडनी की कोई प्रोबलम नहीं होने पायेगी ।गर्मी के बुखार से दूर रखेगा।

 कब्ज को खत्म करने वाला रस : दो केले, कुछ टुकड़े अनानास के, इसमें दूध मिलाकर रोज सेवन करें कब्ज दूर करेगा।शरीर को अत्यंत उपयोगी विटामिन्स तथा शक्ति प्रदान करेगा ।

 संपूर्ण शक्ति दायक रस : कुछ अंगूर, तरबूज के टुकड़े और दूध सबको मिलाकर रस बनाया जाय फिर दो बड़े चम्मच शहद मिलाकर पियें।शरीर की सभी आवश्यक तत्वों की पूर्ति होगी ।शारीरिक शक्ति में वृद्धि होगी।इस रस का कोई भी सेवन कर सकता है।

रक्तशुद्धि के लिये : नींबू, गाजर, गोभी, चुकन्दर, पालक, सेव, तुलसी, नीम और बेल के पत्तों का रस।

अनिद्रा : यदि किसी को नींद कम आती है तो अंगूर, गाजर, पालक और सेब का रस पियें, अच्छी नींद आने लगेगी

 आँखों की रोशनी : आँखों की रौशनी को बढ़ने के लिए गाजर का रस तथा हरे धनिये का रस सबसे उत्तम माना जाता है.