गूगल का नक्शा प्रमाणिक नहीं – राव -भारत के महासर्वेक्षक ने कहा

0
23

नई दिल्ली (ईएमएस)। गूगल मानचित्र को प्रमाणिक नहीं माना जा सकता है क्योंकि इसे सरकार ने नहीं तैयार किया है। सर्वेयर जनरल आफ इंडिया (महासर्वेक्षक) स्वर्ण सुब्बा राव ने कहा कि सर्वे ऑफ इंडिया द्वारा तैयार मानचित्रों का इस्तेमाल महत्वपूर्ण आधारभूत परियोजनाओं के लिए किया जाता है। सर्वे ऑफ इंडिया देहरादून स्थित 250 साल पुराना संस्थान है। उन्होंने कहा, `गूगल मानचित्र प्रमाणिक नहीं हैं। उन्हें सरकार ने नहीं तैयार किया है इसलिए उनकी कोई प्रामाणिकता नहीं है।’

संस्थान के प्रमुख ने कहा कि अनेक लोग गूगल मानचित्र का इस्तेमाल निम्न स्तर के काम के लिए करते हैं। संस्थान को रक्षा उद्देश्यों के लिए मानचित्र तैयार करने का आदेश है। संस्थान के 250 साल पूरे होने पर स्मारक डाक टिकट जारी करने के लिए आयोजित एक कार्यप्रम में उन्होंने कहा, `सर्वे आफ इंडिया द्वारा तैयार मानचित्र का इस्तेमाल गंभीर कार्यों के लिए किया जाता है।’डीएसटी सचिव ने हालांकि कहा कि उपग्रह मानचित्र का निरादर करना गलत होगा क्योंकि सर्वे आफ इंडिया और गूगल जैसी कंपनियों द्वारा तैयार मानचित्र अलग-अलग उद्देश्यों की पूर्ति करते हैं।