खुशकिस्मत हूं जो सचिन जैसे महान खिलाड़ी के दौर में खेला : सहवाग

0
9

नई दिल्ली । पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने कहा कि मैं खुशकिस्मत हूं जो महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर के दौर में खेलने का अवसर मुझे मिला। सहवाग ने वर्ष 1999 से 2013 के बीच भारत के लिये क्रिकेट खेला। सहवाग का कहना है कि उन्होंने तेंदुलकर, राहुल द्रविड़, सौरव गांगुली और अनिल कुंबले से काफी कुछ सीखा।

सहवाग ने कहा ,“मैं खुशकिस्मत हूं कि सचिन, द्रविड़, गांगुली, अनिल कुंबले, वीवीएस लक्ष्मण, जवागल श्रीनाथ, जहीर खान, महेन्द्र सिंह धोनी, हरभजन सिंह और युवराज जैसे खिलाड़ियों के साथ खेला। मैने उनसे काफी कुछ सीखा , जिस तरीके से वे खेलते थे या मैच की तैयारी करते थे.” उन्होंने कहा कि वह खेल को सिर्फ आंकड़ों के संदर्भ में नहीं देखते।

उन्होंने कहा ,“मैं अपने कैरियर को ऐसे नहीं देखता कि टेस्ट क्रिकेट में अकेला तिहरा शतक बनाने वाला बल्लेबाज हूं। मेरे रोलमॉडल सचिन, सुनील गावस्कर और कपिल देव रहे हैं। मैं उन्हें खेलते देखकर बड़ा हुआ और उनसे बहुत कुछ सीखा है।” उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहकर वह खुश हैं। उन्होंने कहा ,“मैने अपना खेल खेला है। मेरा लक्ष्य हर गेंद पर रन बनाने का था। मैं हर गेंद को पीटना चाहता था।

मेरी सोच हमेशा सकारात्मक रहा। मैं इसी वजह से इतने रन बना सका।” सहवाग ने कहा ,“मैने काफी रन बनाये और मैं अपने कैरियर से काफी खुश हूं। मैं नहीं कह सकता कि ज्यादा उपलब्धियां रही या कम। मैं अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहकर खुश हूं। मुझे क्रिकेट की कमी खलेगी लेकिन मुझे लगा कि यही खेल को अलविदा कहने का सही समय है। मेरे प्रशंसकों, बीसीसीआई, कोच, दोस्तों, साथियों और टीम के अन्य सदस्यों को धन्यवाद जिन्होंने हमेशा मेरा साथ दिया।”

सहवाग ने दक्ष्णि अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में 2001 में अपने पदार्पण को कैरियर का सबसे यादगार पल करार दिया। उन्होंने कहा ,“मेरा पहला तिहरा शतक, विश्व कप 2011 जीतना और श्रीलंका के खिलाफ 201 रन मेरे सबसे सुखद पल थे लेकिन सबसे यादगार पल टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण वाला था।

उससे पहले मुझे एकदिवसीय मैचों का बल्लेबाज समझा जाता था और समझा जाता था कि मेरी शैली सिर्फ एकदिवसीय के लिए ठीक है।” उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 2001 में पहले टेस्ट में उन्हें टीम में शामिल करने के लिये पूर्व कप्तान गांगुली को भी धन्यवाद दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here