खुले में शौच मुक्त राज्य बने उत्तराखंड व हरियाणा

0
6

नई दिल्ली । सिक्किम, हिमाचल प्रदेश और केरल के बाद अब ग्रामीण उत्तराखंड और हरियाणा ने स्वच्छ भारत अभियान के तहत खुद को खुले में शौच से मुक्त (ओडीएफ) घोषित किया है। इसके साथ ही ये दोनों जिले खुले में शौच मुक्ति की घोषणा करने वाले देश के क्रमश: चौथे और पांचवें राज्य बन गए हैं।

स्वच्छ भारत अभियान आरंभ होने के बाद राष्ट्रीय स्तर पर स्वच्छता 42 प्रतिशत से बढ़कर 64 प्रतिशत हो गई है। उत्तराखंड में 13 जिलों, 95 विकास खंडों, 7256 ग्राम पंचायतों व 15751 गांवों और हरियाणा में 21 जिलों, 124 विकास खंडों और 6083 ग्राम पंचायतों ने खुद को औपचारिक तौर पर खुले में शौच मुक्त घोषित किया है। इसके बाद उत्तराखंड और हरियाणा खुले में शौच मुक्त की घोषणा करने वाले चौथे और पांचवे राज्य बन गए हैं।

देहरादून में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान पेयजल और स्वच्छता मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि दो अक्टूबर 2014 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत की थी। अब यह लोगों का अभियान बन गया है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड और हरियाणा के लोगों, सरकारी अधिकारियों और अन्य संस्थानों के प्रतिनिधियों के सहयोग के बिना यह लक्ष्य हासिल नहीं किया जा सकता था। उत्तराखंड की इस उपलब्धि पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सभी संबंधित पक्षों की सराहना की है। ओडीएफ राज्यों की संख्या पांच होने के साथ ही देश भर में दो लाख से ज्यादा गांवों और 147 जिलों को शौच मुक्त घोषित किया जा चुका है। स्वच्छ भारत अभियान का लक्ष्य साल 2019 तक देश को खुले में शौच मुक्त बनाना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here