खाद्य तेल का चुनाव करते समय बरते ये सावधानी

0
27

नई दिल्ली । खाद्य तेलों में बसा की उपलब्धता के बारे में विशेषज्ञों की अपनी अलग-अलग राय है। हालांकि सभी कंपनियां जीरो बसा का दावा करती हैं। लेकिन पोषक पदार्थों के मामलों की विशेषज्ञों की मानें तो, फिल्टर्ड ऑयल रिफाइंड ऑयल से बेहतर है। खाद्य तेल का चयन करते समय खास ध्यान रखना चाहिए। एक विशेषज्ञ के अनुसार फिल्टर्ड ऑयल निम्न तापप्रम में तैयार किए जाते हैं। ऐसे में इनमें विटामिंस और खनिज पदार्थ नष्ट नही होते हैं। साथ ही बसीय अम्ल भी जहर में तब्दील नही होता है। वहीं रिफाइंड ऑयल (परिष्कृत तेल) उच्च तापप्रम में तैयार किया जाता है तो इसमें विटामिंस और मिनरल्स खत्म हो जाते हैं। इसके अलावा बसीय अम्ल टूट जाता है जो कि हानिकारक पदार्थ में बदल जाता है।

फिल्टर्ड ऑयल का टेस्ट बरकरार रहता है जबकि रिफाइंड ऑयल स्वादहीन रहता है। पीनट, तिल, मस्टर्ड जैसे नट बेस्ड ऑयल सनफ्लॉवर, कोर्न और सोया जैसे वेजिटेबल ऑयल से बेहतर हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि ये ओमेगा 3, ओमेगा 6 और ओमगा 9 का सही संयोजन होते हैं।कभी भी दो स्वाद के तेलों को इकट्ठा करके नहीं लेना चाहिए।लोगों को कोकोनट ऑयल और ग्रांउड नट ऑयल्स के बारे में कई मिथ है।लोग सोचते हैं कि ये हैवी हैं।इनसे कॉलेस्ट्रॉल बढ़ता है। इनसे हेल्थ खराब होती है। लेकिन कोकोनट ऑयल एंटीवॉयरल, एंटीफंगल प्रोपर्टीज से भरपूर होता है।ये दिल और मस्तिष्क के स्वास्थ्य के लिए अच्छा है।ये बालों के लिए बहुत अच्छा है।लेकिन बहुत से लोग कोकोनट ऑयल का इस्तेमाल नहीं करते।