कोहली की नहीं चली,कुंबले ही होगें इंडीज के दौरे पर कोच रवि शाŒााr के नाम की थी पैरवी

0
6

लंदन । क्रिकेट सलाहकार कमिटी (सीएसी) ने पिछले कई दिनों से चली आ रही भारतीय टीम के कोच को लेकर चर्चाओं पर विराम लगाते हुए पूर्व दिग्गज लेग स्पिनर अनिल कुंबले को वेस्ट इंडीज दौरे तक के लिए भारतीय टीम का कोच बरकरार रखने का फैसला किया है। इसके साथ ही, भारतीय कप्तान विराट कोहली को कुछ दिन तक ‘अजस्ट’ करने का इशारा भी किया गया है। बता दें कि भारतीय कप्तान विराट कोहली कोच के तौर पर रवि शाŒााr की पैरवी कर रहे थे। इस बीच सीएसी ने भारतीय क्रिकेट बोर्ड से कोच नियुक्ति के इस पेचीदा मामले के समाधान के लिए कुछ और समय मांगा है। गुरुवार रात को सचिन तेंडुलकर, सौरभ गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण वाली सीएसी ने बीसीसीआई के सीईओ राहुल जौहरी से लंदन के एक होटल में मुलाकात की थी। सीईओ और सीएसी के बीच कोच के मुद्दे पर करीब दो घंटे तक बैठक चली। देर रात सीएसी ने बोर्ड को अपनी राय से अवगत कराया और मामले के समाधान के लिए और समय मांगा। समझा जाता है कि सीएसी के सदस्यों ने कुंबले और कोहली के साथ भी अलग-अलग बात की। सीएसी के फैसले के बाद भारतीय कप्तान और कोच में अंदरूनी कलह को टालने में मदद मिल सकती है। दोनों की तकरार के कारण चैंपियंस ट्रॉफी में भारत की उम्मीदों को झटका भी लग सकता है। दरअसल, मुख्य मुद्दा यह है कि अगर कोच और कप्तान में अनबन हो तो कैसे कोई टीम बेहतर प्रदर्शन कर सकती है। सूत्र ने बताया, सीएसी ने कुंबले के लिए कुछ मोहलत पाकर यह सुनिश्चित किया है कि उन्हें चैंपियंस ट्रॉफी के बाद आनन-फानन में नहीं हटाया जा सके। अब कुंबले भारतीय टीम के साथ वेस्ट इंडीज जाएंगे। यह एक छोटा दौरा है और इसमें कोई दिक्कत नहीं हो सकती है। दरअसल, कोहली को कुछ दिन तक ‘अजस्ट’ करने को कहा गया है।’ हालांकि अभी यह साफ नहीं हो पाया है कि सीएसी कोच पद के लिए आए अन्य आवेदकों का कब इंटरव्यू करेगा। भारतीय टीम 20 जून को लंदन से वेस्ट इंडीज के लिए रवाना होगी। टीम 10 जुलाई को भारत पहुंचेगी।

कुंबले पर निर्णय 26 जून को होने वाली बीसीसीआई एसजीएम में लिया जा सकता है। एसजीएम के एक दिन पहले बीसीसीआई के सदस्य प्रशासकों की कमिटी (सीओए) के प्रमुख विनोद राय से भी मुलाकात करेंगे। बीसीसीआई के कार्यकारी अध्यक्ष सीके खन्ना ने एक पत्र लिखकर बीसीसीआई की एसजीएम को 26 जून तक टालने के लिए कहा था। उन्होंने बताया था, ‘कैसे किसी कोच को चैंपियंस ट्रॉफी के बीच से हटाया जा सकता है और कुछ दिनों में वेस्ट इंडीज का दौरा भी होने वाला है। आईपीएल चेयरमैन राजीव शुक्ला और अन्य इस मुद्दे पर सहमत थे कि नए कोच का चुनाव या फिर कुंबले को विस्तार देने पर फैसला टाला जाना चाहिए था। उल्लेखनीय है कि कोचिंग का अनुभव नहीं रखने वाले कुंबले को पिछले साल जून में एक साल के लिए भारतीय क्रिकेट टीम का कोच नियुक्त किया गया था।