काली मिर्च के ये फायदे जानकर हैरान रह जायेंगे आप

0
282

काली मिर्च को मसलों में सर्वश्रेष्ठ माना गया है इसलिए लिए किंग ऑफ़ स्पाइस और ब्लैक पेपर के नाम से जाना जाता है और इसे गरम मसाले के श्रेणी में रखा गया है काली का सेवन हम हम अपने भोजन के स्वाद को बढ़ने के लिए करते है लेकिन ये सिर्फ मसालें के रूप में ही नही एक दवा के रूप में भी इस्तेमाल की जाती है. काली मिर्च शरीर में होने वाले कई रोगों को दूर करने में सहायक होती है.

काली मिर्च के महत्वपूर्ण गुण और उपयोग

1. काली मिर्च आपको पता होगा की थोडी तीखी होती है। इस मिर्च की मदद से आप अपनी आँखों को ठीक कर सकते हैं। इसके लिए
आप पहले इसको कूट लिजिए और जब इसका चूर्ण बन जाये तो इसमें गाय का घी मिला लिजिए और अब इसका आप सुबह-शाम
सेवन करें दूध के साथ आपकी आँखों की सभी समस्या दूर हो जायेगी।

2. काली मिर्च पेट के कीडे भी खत्म करती है। इसके लिए आप काली मिर्च के चूर्ण बनाकर उसको लस्सी (छाछ) के साथ सेवन करें।
दो तीन दिन में आपकी ये परेशानी बिल्कुल दूर हो जायेगी।

3. काली मिर्च को गठिये के रोग को ठीक करने के लिए भी अच्छा माना जाता है। इसके लिए आप तिल के तेल में कुछ काली मिर्च
डालकर पकायें और इसके बाद इस तेल से मालिश करें तो आपका गठिया ठीक हो जायेगा।

4. यह मिर्च आपको बहुत और सारी बीमारियों से छुटकारा दिलाती है जैसे बवासीर। काली मिर्च को जीरे और ज्यादा तीखी ना लगे
इसके लिए चीनी या शकर लेकर इनको पीस ले और इसको आप सुबह-शाम लेंगे तो आपकी बवासीर खत्म हो जाएगी। इसमें परहेज के
रूप में कोई भी तेल वाली चीज का सेवन ना करें।

जुकाम और खांसी के लिए
5. काली मिर्च जुकाम और खांसी के लिए भी बहुत ही उपयोगी होती है। थोडे से शहद के साथ काली मिर्च का सेवन करने से आपकी
खांसी कुछ देर में समाप्त हो जायेगी। और इसी मिश्रण को दूध के साथ ले आपका जुखाम भी ठीक होगा।

6. यह हमारे बीपी को भी कंट्रोल करती है। इसके लिए आप इसको पानी के साथ सेवन करें। यह सेवन जब करें जब आपका बीपी
ज्यादा हो गया हो। तभी ज्यादा फायदा मिलेगा।

7. अगल किसी व्यक्ति को सांस की कोई बीमारी हो तो उसको पुदीने वाली चाय बनाकर उसमें काली मिर्च का चूर्ण डाल दे। अब इस
चाय का सेवन कीजिए आपकी सांस की परेशानी दूर हो जायेगी।

8. अगर किसी बच्चे की याददाश्त बहुत कमजोर है तो उसको शहद के साथ काली मिर्च का चूर्ण प्रयोग करायें। उसकी याददाश्त ठीक
हो जायेगी। आप इसकी दिन में तीन बार ऐसा करें।

महत्त्वपूर्ण सुचना: यहाँ दी गई जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर
सम्भव प्रयास किया गया है। यहाँ उपलब्ध सभी लेख पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए है और इसकी
नैतिक जि़म्मेदारीwww.braahmi.com की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपनेचिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। आपका चिकित्सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्प नहीं है।