एसिडिटी से तुरंत राहत पाना है तो जरूर करें ये योगासन

0
200

एसिडिटी आजकल की एक सामान्य समस्या है। अनहेल्दी फूड्स, खराब पाचन, ज्यादा मात्रा में कैफीन, तंबाकू या फिर एल्कोहल लेने की वजह से यह समस्या होती है। एसिडिटी होने पर मिचली आना, अस्थिरता, उल्टी आदि लक्षण दिखाई देते हैं। एसिडिटी के लिए लोग कई तरह की दवाओं, चूरन आदि का सेवन करते हैं। इसे योगा के माध्यम से भी सही किया जा सकता है। नियमित रूप से इन योगाभ्यासों को करने से चिंता और तनाव दूर होता है और चेहरे पर चमक भी बढ़ जाती है। तो चलिए जानते हैं कि एसिडिटी को दूर करने वाले ये आसन कौन-कौन से हैं –

वज्रासन – यह आसन पेट में रक्त संचार को सुगम करता है जिससे पाचन क्रिया दुरुस्त होती है। और पाचन ठीक रहने से एसिडिटी की समस्या भी नहीं होती है।

पवनमुक्तासन – पवनमुक्तासन आंत संबंधी समस्याओं को दूर करता है जिससे शरीर के सभी अपशिष्ट पदार्थ तथा विषाक्त तत्व बाहर निकल जाते हैं। जिससे पाचन तंत्र सही रहता है। पाचन तंत्र सही रहने का मतलब है कि एसिडिटी भी आपसे दूर ही रहेगी।

कपालभाति प्राणायाम – पेट संबंधी हर समस्या के लिए कपालभाति सबसे ज्यादा लाभकारी आसन है। कपालभाति प्राणायाम मोटापा, पाचन संबंधी समस्या और एसिडिटी को दूर करने में हमारी मदद करता है।

नाड़ी शोधन प्राणायाम – नाड़ी शोधन प्राणायाम शरीर को शक्ति प्रदान करने के आलाव तनाव और चिंता को भी दूर करने का काम करता है। यह एसिडिटी और गैस्ट्रिक समस्याओं से निजात दिलाने में मदद करता है।

ऊष्ट्रासन – यह आसन दिमाग को शांत रखने के अलावा रक्त संचार को ठीक रखता है। एसिडिटी से छुटकारा दिलाने में भी इसका अहम योगदान है। यह सांस संबधी समस्याओं और तंत्रिका तंत्र के लिए भी बहुत फायदेमंद है।
इन सबके अलावा भी एसिडिटी से निपटने के लिए कुछ उपायों को आजमाया जा सकता है।

जैसे – एसिडिटी से बचने के लिए तैलीय और मसालेदार खाने से परहेज करना चाहिए। तंबाकू और एल्कोहल का ज्यादा सेवन करने से भी बचना चाहिए। बहुत अधिक मात्रा में कैफीन लेना भी सेहत के लिए सही नहीं होता। रोजाना व्यायाम करना भी एसिडिटी से छुटकारा पाने का सर्वोत्तम उपाय है। सोने से ठीक पहले खाना न खाएं और खूब पानी पिएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here