इस्तेमाल की हुई चायपत्ती के फायदे, शेयर करें

0
83

सुबह-सुबह चाय पीने से ताजगी आती है। चाय की चुस्कियों से ही अधिकतर लोगों की सुबह होती है। चाय की पत्तियों में मौजूद एंटी आक्सीडेंट आपकी त्वचा में निखार लाते हैं साथ ही साथ चाय की पत्तियों में एंटी एजिंग तत्व भी पाए जाते हैं जो उम्र के बढ़ते प्रभाव को रोक देते हैं। चाय की पत्तियां न केवल आपकी त्वचा की रंगत को संवारती है बल्कि यह बालों की कई समस्याओं को भी खत्म करती है। कैसे चाय की पत्तियां, किस तरह से आपके बालों और त्वचा के लिए फायदेमंद हो सकती है।

सूर्य की किरणों का प्रभाव : चाय की पत्तियों के इस्तेमाल से आप सनबर्न की समस्या से निजात पा सकते हैं। सनबर्न और उससे हुई टैनिंग को दूर करने के लिए चाय कि पत्तियों को ठंडे पानी में भिगों लें और फिर इसे अपने चेहरे व हाथों पर लगाएं।

बालों का रूखापन : बालों के रूखेपन से ज्यादातर लोग परेशान रहते हैं। रूखेपन की वजह से बालों की चमक गायब हो जाती है और बाल कमजोर होकर टूटने भी लगते हैं। ऐसे में आप किसी बर्तन में पानी को उबल लें। फिर इसमें चाय की पत्तियों को डाल दें। कम से कम पंद्रह मिनट तक उबलने के बाद इसे ठंडा कर लें। अब इस पानी अपने सिर को अच्छे से धोएं और सूखने दें। सूखने के बाद किसी हर्बल शैंपू से अपने बालों को धो लें। ये आसान तरीका आपके बालों की चमक वापस ले आएगा।

पैरों की बदबू में चाय की पत्तियों का प्रयोग : गर्मियों के मौसम में अक्सर पैरों से बदबू आती है। पैरों की बदबू को दूर करने के लिए आप चाय की पत्तियों का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए चाय की पत्तियों को गर्म पानी में उबालें और इसे ठंडा करके अपने दोनों पैरों को इसमें डाल दें। यह उपाय पैरों की बदबू को दूर कर देता है।

चेहरे के निखार के लिए चाय की पत्तियां : त्वचा का रूखापन और निखार लाने के लिए चाय का पत्तियों के पेस्ट को चेहरे पर लगाएं। पंद्राह मिनट तक सूखने के बाद चेहरे को साफ पानी से धो लें।

आखों के नीचे काले घेरे : काले घेरे आंखों के नीच हो जाते हैं। जो बेहद गंदे लगते हैं। आंखों के नीचे इन काले घेरे को दूर करने के लिए चाय कि पत्तियों को पानी मे भिगोकर आंखों के नीचे लगाएं। कुछ दिनों तक इस उपाय को करने से काले घेरे आंखों के नीचे से गायब हो जाएगें।

संक्रमण से बचाती है चाय की पत्तियां : किसी कीड़े या कीट के काटने पर संक्रमण फैलने का डर रहता है। ऐसे में आप चाय की पत्तियों के पेस्ट को कीट के काटे हुई जगह पर लगा लें।