इसे पढ़ने के बाद आप कभी नहीं फेंकेंगे प्याज के छिलके

0
385

कई फलों और सब्जियों के छिलकों में भी उतने ही पोषक तत्व पाए जाते हैं जितने की उस फल या सब्जी में होते हैं। इसलिए यह ज़रूरी नहीं कि आप हर फल या सब्जी के छिलकों को फेंक दें। इस आर्टिकल में हम आपको प्याज के छिलकों से होने वाले फायदों के बारे में बता रहे हैं।

अधिकतर लोग प्याज काटते समय उसके छिलके निकालने के बाद फेंक देते हैं जबकि ऐसा नहीं करना चहिये। हालांकि यह सच है कि प्याज के छिलकों को सीधे खाना भी नहीं चाहिए लेकिन आप इसका कई अन्य तरीकों से इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। यह आपकी स्किन के लिए बहुत फायदेमंद है। आइये जानते हैं प्याज के छिलकों से होने वाले कुछ प्रमुख फायदों के बारे में…

एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण: अगर आपकी स्किन पर रैशेज हो गये हैं या किसी तरह की कोई एलर्जी हुई है तो आप प्याज के छिलकों का पानी लगाकर उसे ठीक कर सकते हैं। इसके लिए प्याज के छिलकों को रात भर के लिए एक कटोरे पानी में भिगोकर रखें और सुबह उस पानी से अपनी स्किन को साफ़ करें।

कीड़े मकोड़ों और मच्छरों से राहत : अगर आपके घर में मच्छरों और कीट पतंगों का बहुत ज्यादा प्रकोप है तो इनसे छुटकारा पाने के लिए भी आप प्याज के छिलकों का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए भी प्याज के छिलकों को पानी में भिगोकर रात भर के लिए रखें और फिर उस पानी को दरवाजे और खिडकियों के पास ले जाकर रख दें। उसकी तीखी महक से मच्छर और कीट पतंगे घर में नहीं आते हैं।

हेयर कंडीशनर की तरह इस्तेमाल: नहाते समय बालों को अच्छे से धो लेने के बाद उसे प्याज के छिलकों वाले पानी से कुछ देर साफ़ करें। इससे बाल एकदम मुलायम और चमकदार हो जाते हैं।

कोलेस्ट्रॉल कम करने में मददगार : जी हां, प्याज के छिलके बॉडी के कोलेस्ट्रॉल लेवल को भी कम करने में मदद करते हैं। इसके लिए भी रात भर उन छिलकों को पानी में भियोयें रखें और फिर रोजाना उस पानी को पियें। अगर आपको प्याज वाले पानी का स्वाद एकदम अच्छा नहीं लग रहा है तो उसमें शहद या चीनी मिलाकर पियें।

पेट के इन्फेक्शन से बचाव : प्याज के छिलकों में एंटी बैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण होते हैं जो कि पेट में होने वाले इन्फेक्शन में आराम दिलाते हैं। इसके लिए भी प्याज के छिलकों को पानी में भिगोयें और रोजाना उस पानी का सेवन करें। अगर आपके डॉक्टर ने इन्फेक्शन से बचने की दवाइयां दी हैं तो आप उन दवाइयों के साथ-साथ छिलकों के पानी का भी सेवन करें। इससे जल्दी आराम मिलता है।

कैंसर से बचाव : प्याज के छिलकों में एंटी-ऑक्सीडेंट की मात्रा अधिक होती है और इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी होते हैं। इसके अलावा इसमें पाये जाने वाला ‘क्वेरसेटिन’ नामक एंजाइम कैंसर कोशिकाओं को बढ़ने से रोकता है। आप इन प्याज के छिलकों की चाय भी बना सकते हैं और रोजाना सोने से पहले इस चाय का सेवन करें।

महत्त्वपूर्ण सुचना: यहाँ दी गई जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हरसम्भव प्रयास किया गया है। यहाँ उपलब्ध सभी लेख पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए है और इसकीनैतिक जि़म्मेदारी www.braahmi.com  की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपनेचिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। आपका चिकित्सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्प नहीं है।