इमरान को फिर पाक टीम के शीर्ष पर आने की उम्मीद

0
11

कराची । चैम्पियंस ट्रॉफी में पाकिस्तान की जीत के बाद पूर्व कप्तान इमरान खान ने भी पहले वाले रूख से पलटते हुए टीम की जमकर तारीफ की है। पाक को 1992विश्व कप में खिताब जिताने वाले इमरान ने कहा कि मौजूदा पाकिस्तानी टीम अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में शीर्ष पर आ सकती है पर इसके लिए प्रबंधन और कप्तान को प्रयास करने होंगे हालांकि उन्होंने माना कि देश में युवा प्रतिभाओं को निखारने की प्रणाली की कमी है। उन्होंने कहा, ‘हमारी टीम तब विश्व क्रिकेट में सुपर पावर थी पर इस टीम में ‘सुपर पावर’ से बेहतर करने की काबिलियत है।

‘ उन्होंने टीम की प्रशंसा करते हुए कहा कि वह यह देखकर काफी खुश हैं कि विपरीत माहौल के बाद भी पाक क्रिकेट से युवा प्रतिभायें निकल रही हैं।
इमरान ने कहा, ‘असल समस्या यह है कि हमारे पास इस युवा और अपरिपक्व प्रतिभा को सही तरह और पेशेवर तरीके से निखारने के लिए प्रणाली मौजूद नहीं है परन्तु फिर भी प्रतिभाएं निकल रही हैं।’

उन्हें लगता है कि कप्तान और प्रबंधन को अब इस चैम्पियंस ट्राफी जीत का फायदा उठाते हुए 2019 विश्व कप की तैयारी शुरू कर देनी चाहिए। उन्होंने टीम की तारीफ करते हुए कहा, ‘इन लड़कों ने भारत से पहले मैच में करारी शिकस्त के बाद शानदार वापसी की,उन्हें बधाई।’
उन्होंने हालांकि दुख व्यक्त किया कि पाकिस्तान इतनी बड़ी जनसंख्या वाला देश होने के बावजूद अन्य खेलों में पिछड़ रहा है और उसने हॉकी और स्क्वाश में भी अपना दर्जा गंवा दिया है।

इमरान ने कहा, ‘एक समय पर मुझे याद है कि हमारी हॉकी टीम और स्क्वाश खिलाड़ी नियमित रूप से विश्व खिताब जीतती थी और उन्हें हराना बेहद कठिन था। आज हम दोनों खेलों में जूझ रहे हैं।’ इससे पहले इमरान अपनी टीम से काफी दुखी थे। लीग मैच में भारत के खिलाफ हार के बाद उन्होंने कहा था कि देश के क्रिकेट ढ़ांचे को बदलना होगा। इमरान के अलावा एक अन्य पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी ने भी कहा है कि अब टीम को 2019विश्व कप की तैयारियों में लग जाना चाहिये।