अल्झाइमर रोग – कमज़ोर याददाश्त और दिमागी कमजोरी दूर कर IQ बढाने के लिए सेब का प्रयोग

0
37

अगर आपकी याददाश्त बहुत कमज़ोर है, बार बार भूलने की समस्या है, बच्चों का दिमाग कमज़ोर हो गया है, IQ बढ़ाना है, अल्झाइमर रोग है तो इसके लिए आज आपको बेहद सरल सा प्राकृतिक इलाज बता रहा है.

अल्जाइमर रोग रोग ‘भूलने का रोग’ है। इसका नाम अलोइस अल्जाइमर पर रखा गया है, जिन्होंने सबसे पहले इसका विवरण दिया। इस बीमारी के लक्षणों में याददाश्त की कमी होना, निर्णय न ले पाना, बोलने में दिक्कत आना तथा फिर इसकी वजह से सामाजिक और पारिवारिक समस्याओं की गंभीर स्थिति आदि शामिल हैं।

रक्तचाप, मधुमेह, आधुनिक जीवनशैली और सर में कई बार चोट लग जाने से इस बीमारी के होने की आशंका बढ़ जाती है। अमूमन 60 वर्ष की उम्र के आसपास होने वाली इस बीमारी का फिलहाल कोई स्थायी इलाज नहीं है।

हाल में हुए शोध में पता लगा है की रोजाना का एक या दो सेब खाने से या सेब का रस पिने से अल्जाइमर रोग  की रोकथाम और ईलाज किया जा सकता है इसके साथ ही यह मस्तिष्क की एजिंग की प्रकिया को भी धीमा कर देता है ।

ये है इसके पीछे का कारण.
सेब का जूस पीने से Acetylcholine नामक Neurotransmitter के कम होने की प्रक्रिया धीमी पड़ जाती हैं Acetylcholine मस्तिष्क की कार्य क्षमता को बढ़ाने के लिए जरुरी होता हैं इसके इलावा सेब में मोजूद एंटीऑक्सीडेंट मेमोरी को बढ़ाने के लिए भी काफी उपयोगी होते हैं. जिस कारण से ये दिमाग को बढाने और मस्तिश्क्त सम्बंधित सभी बिमारियों में ये बहुत काम की चीज है.

कैसे करें सेब का उपयोग.
कहा गया है के ‘An apple a day Keeps the doctor away’ अर्थात के हर रोज़ एक सेब खाने से आप आजीवन स्वस्थ रह सकते हैं. और इसका सबसे बेस्ट समय है सुबह खाली पेट शौच जाने के बाद इसका सेवन करे. सेब के साथ में इससे बने हुए उत्पाद जैसे मुरब्बा, सिरका, जूस इत्यादि भी सेवन कर सकते हैं. ध्यान रहे के जब ये खाए या पियें इस से एक घंटे के भीतर कुछ भी खाना या पीना नहीं है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here