अभिनेता कार्तिक को कमेडी सिखा रहे परेश

0
8

अभिनेता परेश रावल इन दिनों कार्तिक आर्यन के गुरु बन गए हैं। वो कार्तिक को कॉमेडी के गुर सीखा रहे हैं। दोनों फिल्म गेस्ट इन लंदन में साथ काम कर रहे हैं। फिल्म ’गेस्ट इन लंदन’ में कार्तिक आर्यन के घर में बिन बुलाये मेहमान परेश रावल के आने से कार्तिक को एक फायदा तो हो रहा है। दरअसल इस बिन बुलाये मेहमान के सानिध्य में रहकर बिना क्लास लिए ही अभिनय के गुर सीख रहे हैं कार्तिक आर्यन। इस बारे में कार्तिक कहते है, परेश रावल जी गजब के व्यक्ति है। उनका पर्दे के पीछे का मजाकियापन रुपहले पर्दे पर भी दिखाई देता है। वह अपने सह कलाकार में से शानदार अभिनय निकालने के लिए किसी भी स्तर की मदद करने के लिए तैयार रहते है। मैं बहुत भाग्यवान हूं कि मुझे उनके जैसा गुरु इस फिल्म के दौरान मिला है। इसके अलावा कार्तिक आर्यन ने यह भी कहा कि, उन्हें कॉमेडी करना पसंद है। इस बात कि ख़ुशी है कि ऐसी फिल्म की है जो लोगों को गुदगुदाती है। इस फिल्म के लिए उन्होंने काफी इम्प्रोवाइजेशन किया है। फिल्म ’गेस्ट इन लंदन एक कॉमेडी फिल्म है, जिसका निर्देशन अश्विन धीर ने किया है। फिल्म 16 जून को रिलीज हो रही है। हाल ही में अतिथि तुम कब जाओगे के निर्माता स्टूडियो ने गेस्ट इन लंदन के निर्माताओं पर बिना इजाजत के फिल्म बनाने का आरोप लगा कर केस किया है। उनका कहना है कि गेस्ट इन लंदन को भले ही उनकी फिल्म का सीक्वल न कहा जा रहा हो लेकिन कहानी वही है।

परेश रावल का नाम जेहन में आते ही दर्शकों के दिल में दो तरह के किरदार एक साथ सामने आ जाते हैं। एक फिल्म ’हेरा फेरी’ का मसखरा बाबूराव गणपत राव आप्टे और दूसरा राम गोपाल वर्मा की फिल्म ’दौड़’ के पिंकी का। ये दोनों ही किरदार दो धाराओं का प्रतिनिधित्व करते हैं।

परेश पहले इंजीनियर बनना चाहते थे, लेकिन उन्हें अभिनय ज्यादा पसंद था। लगभग 22 वर्ष की उम्र में पढ़ाई पूरी करने के बाद वे सिविल इंजीनियर के रूप में काम पाने के लिए संघर्ष करने लगे।

लेकिन इसी बीच उन्हें केतन मेहता की फिल्म ’होली’ में काम करने का मौका मिल गया और उनके फिल्मी करियर की शुरुआत हो गई। 1986 में आई महेश भट्ट की फिल्म ’नाम’ की जबरदस्त सफलता ने उन्हें बॉलीवुड में स्थापित कर दिया।
बतौर अभिनेता परेश रावल की खासियत उनकी फिल्मों की संख्या में नहीं बल्कि उनके द्वारा निभाए गए किरदारों में है। अपने पूरे करियर में उन्होंने विलेन, कॉमेडियन, हीरो सभी तरह के किरदार निभाए लेकिन उन्हें कुछ खास किरदारों के लिए हमेशा याद किया जाएगा। डालते हैं नजर परेश रावल के उन किरदारों पर जिनकी वजह से वो सुर्खियों में रहे…
बाबू राव गणपत आप्टे (हेरा फेरी)

फिल्म ’हेरा फेरी’ का ये किरदार इतना जबरदस्त था कि इसके सामने अक्षय कुमार और सुनील शेट्टी का स्टारडम भी फीका पड़ गया।मोटे फ्रेम का चश्मा, मराठी मिश्रित हिंदी और संवाद अदायगी का दिलचस्प अंदाज लोगों को खूब भाया। फिल्म हिट रही और इसका पूरा क्रेडिट परेश रावल को गया।

इलियास (आंखें)
निर्देशक विपुल शाह की इस फिल्म में अमिताभ बच्चन, अक्षय कुमार, अर्जुन रामपाल जैसे सितारों की भरमार थी, लेकिन परेश रावल सितारों से भरी इस फिल्म में बाजी मार ले गए। इस फिल्म में उन्होंने इलियास का रोल प्ले किया था जो तीन ब्लाइंड बैंक रॉबर्स में से एक था। इस फिल्म में परेश सभी स्टार्स पर भारी पड़ते नजर आये।

हसमुख लाल (जुदाई)
निर्माता बोनी कपूर की फिल्म जुदाई में परेश रावल ने हसमुख लाल नाम के एक मकान मालिक का किरदार निभाया था, जिसे बाल की खाल निकालने की आदत है। ये किरदार हिंदी सिनेमा का सबसे पावरफुल कॉमिक किरदार माना जाता है। परेश ने इस फिल्म से कॉमेडी की नयी परिभाषा गढ़ी बावजूद उनकी इमेज एक गंभीर अभिनेता की रही है।

कांजी लाल जी मेहता (ओह माय गॉड)
2012 में परेश रावल उमेश शुक्ला की फिल्म ’ओह माय गॉड’ से पहली बार किसी फिल्म में लीड रोल में नजर आए। इस फिल्म में उन्होंने कांजी लाल जी मेहता नामक ऐसे बिजनेसमेन का रोल निभाया जो अपने नुकसान की भरपाई के लिए खुद भगवान् को अदालत में खींच लाता है।

एक अभिनेता के रूप में परेश रावल ने जितनी फिल्में की उनमें से ज्यादातर फिल्मों में अपने हीरो पर भारी पड़ते नजर आए। कहा जाता है कि ’हेरा फेरी’ के बाद कई बड़े सितारे उनके साथ काम करने से कन्नी काटने लगे. परेश रावल की एक्टिंग स्किल के सामने उनका हर किरदार छोटा नजर आता था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here