अगर आप जीवन में कभी बीमार नहीं पड़ना चाहते तो करें यह योग

0
152

ऐसे तो योग की उत्पत्ति का समय आज तक कोई जान नहीं पाया है लेकिन यह 20 सालों से प्रचलन में है फिट रहने के लिए योग कितना जरूरी है योग करने की खास बात यह है कि इससे आपको थकान नहीं लगती जब आप दूसरी कसरत करते हैं तब उसमें आप थकान का अनुभव करते हैं इसमें आज हम आपको बताएंगे । विज्ञान ने भी योग की महिमा को माना है कई बड़े-बड़े रोग जैसे कि कैंसर उच्च रक्तचाप बीमारियों का इलाज योग की मदद से किया गया है आज योग के कई सारे शिविर कैंपस चलते हैं जहां पर निशुल्क ज्ञान दिया जाता है इस ज्ञान में योग करने का समय बैठने की स्थिति वगैरे का ज्ञान दिया जाता है।

कपालभाति योग मोटापा और रक्तचाप को घटाने के लिए कपालभाति योग करें इससे आपकी पेट की चर्बी कम होगी ऐसा होने पर आप का रक्तचाप अपने आप ही कम हो जाएगा उक्त रक्तचाप का एक कारण मोटापा भी है इस योग को प्रतिदिन 3:00 से 4:00 मिनट करें।

शवासन योग इस योग को करने से आप अपने आप को तनाव रहित महसूस करेंगे आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में स्ट्रेस कई तरह के रोगों का मूल बन चुका है ऐसे मे यह योग वरदान रूप है इससे आप अपना कोलेस्ट्रॉल कम कर पाएंगे क्योंकि तनाव के कारण भी कोलेस्ट्रोल बढ़ता है इस कॉलेस्ट्रोल से ह्रदय की बहुत सी गंभीर बीमारियां हो सकती हैं इसे रोकने के लिए प्रतिदिन 2 मिनट यह आसन करें।

अनुलोम विलोम योग इस योग की मदद से आप अपने शरीर में रहे हुए कफ को बाहर कर पाएंगे साथ ही साथ अस्थमा के रोग में भी काबू पा पाएंगे जिन्हें ठीक से नींद नहीं आती वह भी प्रतिदिन 2 से 3 मिनट यह करके अपने आप को स्वस्थ रख पाएंगे इसके अलावा त्रिकोनासन जो कि आपको पीठ दर्द में राहत दिलाएगा और बालासन करने से आपका पेट अंदर चला जाएगा।

आपके घर में योग करना एक स्टेटस सिंबल भी माना गया है उच्च वर्गीय और मध्यम वर्गीय परिवार के लोग इसे करने में गौरव का अनुभव करते हैं क्योंकि यह जो की उत्पत्ति मूल भारत में हुई है और आज विदेशों में इसे अपनाया जा रहा है। लोग बाहर से यहां आकर योग के शिविर में भाग लेते हैं और महीनों तक अपनी गंभीर बीमारियों का इलाज करते हैं कई राज्यों की स्कूलों में इसे पाठ्यक्रम के रूप में जोड़ा गया है और कई जगहों पर यह चर्चा चल रही है कि इसे पाठ्यक्रम में जोड़ें क्योंकि एक स्वस्थ जीवन ही आपको आनंद दे सकता है और इसके लिए योग बहुत जरूरी है।

बहुत से रोगों का जैसे की कैंसर डायबिटीज उक्त रक्तचाप तनाव स्लिपफिनिया माइग्रेन जैसे रोगों का इलाज सिर्फ योग से ही संभव है अगर आपको जीवनभर दवाइयों का सेवन नहीं करना तो जड़ मूल से खत्म करने के लिए यह योग आपको प्रतिदिन अपने जीवन में लाने होंगे भारत को योग के मामले में गुरु माना गया है क्योंकि इसकी शुरुआत यहीं से हुई है यह हमारे देश से निकल कर अमेरिका जर्मनी चीन और यूरोप की बहुत से देशों में जा चुका है वहां पर कई लोगों ने अपने जीवन को रोग मुक्त बनाने के लिए प्रतिदिन योग को अपने जीवन का हिस्सा मान लिया है।