अगर आपका जन्म भी इस समय हुआ है, तो आपमें भी होंगी ये अविश्वसनीय खूबियां

0
176

व्यक्ति के गुण: विज्ञान ये प्रमाणित कर चुका है कि किसी भी व्यक्ति के गुण, उसकी आदतें और व्यक्तित्व अनुवांशिक यानि उसके माता-पिता से मिले होते हैं। चिकित्सा जगत के अनुसार यह पूरी तरह डीनए पर निर्भर करता है, लेकिन ज्योतिष शास्त्र केवल इसी तथ्य तक सीमित नहीं है। वह इस हकीकत से परे कई और पहलुओं पर भी आपका ध्यान आकृष्ट करता है।

जन्म के समय से व्यक्तित्व निर्धारण: ज्योतिष शास्त्र के अनुसार किसी भी व्यक्ति के जन्म का समय और स्थान उसके व्यक्तित्व निर्धारण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह ना केवल व्यक्ति के ग्रह-नक्षत्रों को प्रभावित करता है, बल्कि बच्चे के आस-पास का माहौल कैसा होगा यह भी निर्धारित कर देता है, जो उसके आचरण को सबसे अधिक प्रभावित करता है।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार रात में जन्मे लोग: बहुत हद तक आप इन बातों से परिचित होंगे लेकिन शायद आपको यह पता ना हो कि कि ज्योतिष शास्त्र के अनुसार रात के समय में जन्मे व्यक्ति दिन में पैदा हुए व्यक्तियों की तुलना में काफी अलग होते हैं। महिला हो या पुरुष, इनमें कुछ ऐसी खास बातें होती हैं जो दिन में जन्मे लोगों में नहीं होतीं। आइये जानते हैं क्या हैं वो….

चिंतन-मनन वाले: रात में जन्मे लोग चिंतन-मनन करने वाले, बेहद विचारवान और दार्शनिक सोच के होते हैं। इतना ही नहीं, इनमें अवलोकन या सामान्य शब्दों में कहें चीजों को परखने की क्षमता भी सामान्य लोगों से काफी अधिक होती है। इसी कारण ऐसे लोग अलग-अलग व्यवहारों और उनमें होने वाले कई महत्वपूर्ण बदलावों को समझ पाते हैं।

कल्पनाशील और रचनात्मक: रात में जन्मे व्यक्ति कल्पनाशील और स्वप्नदर्शी भी होते हैं, इस कारण रचनात्मक कामों में ये अच्छा कर पाते हैं। इनकी कल्पनाशीलता इनकी सोच को जहां एक नया आयाम देती है, वहीं इनकी रचनात्मकता में भी इससे दिन-प्रतिदिन निखार आता है।

संकट का अनुमान: ऐसा माना जाता है कि रात्रि में जन्म लेने वाले लोग अन्य के मुकाबले संकट का अनुमान शीघ्रता से लगा लेते हैं। इसलिये ये अपने परिवार और दोस्तों की तुलना में अधिक सतर्क और सावधान रहते हैं। अपने आस-पास होने वाली हर चीज पर इनकी नजर होती है। इनकी कार्यक्षमता भी रात्रि में अधिक होती है और ये दिन के मकाबले रात में ज्यादा अच्छा काम कर पाते हैं।

आलोचक: रात में जन्मे लोग आलोचक स्वभाव के होते हैं लेकिन उस आलोचना में भी सकारात्मकता का प्रभाव होता है। अपने इस गुण के कारण ये किसी भी समस्या का हल बड़ी ही आसानी से निकाल लेते हैं। ये स्वभाव से बेहद आत्मविश्वासी भी होते हैं।

चालाक: ऐसे लोग अक्सर धीमा संगीत सुनना पसंद करते हैं। कला के मामले में भी इनकी दिलचस्पी दूसरों से काफी अलग होती है। ये शांत लेकिन चालाक दिमाग के स्वामी होते हैं।

संवेदनशील और भावुक: चाहे वह कोई अजनबी हो या जाना-पहचाना, हर किसी से इनका व्यवहार बेहद दोस्ताना होता है। हालांकि कई बार यह इनकी कमजोरी भी बन जाता है और ये बड़ी ही आसानी से किसी के भी दोस्त बन जाते हैं जो। ये दूसरों से अधिक संवेदनशील और भावुक होते हैं। इसलिये मां के प्रति इनका झुकाव अधिक होता है।

आलसी: अन्य लोगों की तुलना में ये ज्यादा सुस्त और आलसी होते हैं, लेकिन इनमें गजब की दृढ़ता होती है। कभी-कभी तो इनकी जिद ही इन्हें सफलता की ऊचाइयों तक पहुंचाती है।